खुशखबरी : बालू की कीमतों में आई अब तक की सबसे ज्यादा गिरावट – मिल गई दोबारा से खनन की मंजूरी

24
bihar sand mining

डेस्क : बिहार में बालू निर्माण के कार्य पर लंबे समय से रोक लगी हुई थी। बता दें कि बालू समाज का एक अभिन्न हिस्सा है जिसकी मदद से लंबी-लंबी इमारतें खड़ी होती है। फिलहाल के लिए सभी रियल एस्टेट कंपनियां काफी तंगी झेल रही है। उनका सभी प्रकार का कंस्ट्रक्शन कार्य रुका हुआ है। ऐसे में बालू के बढ़े हुए रेट से कंस्ट्रक्शन कंपनियां परेशान है। फिलहाल के लिए 8 जिलों में बालू के खनन की मंजूरी मिल गई है।

जिन जिलों में बालू खनन की मंजूरी मिली है वह इस प्रकार है- बक्सर, वैशाली, किशनगंज, मधेपुरा, पश्चिम चंपारण, बांका, अरवल, नवादा। आने वाले समय में हमें बालू का खनन औरंगाबाद, रोहतास, सारण, भोजपुर, पटना, जमुई, गया और लखीसराय में देखने को मिलेगा। जल्द ही इन जिलों में बालू के टेंडर को जारी किया जाएगा और फिर से एक बार बालू की कीमतों में गिरावट देखने को मिलेगी।

किस लिए बढे बालू के दाम

बालू के दाम इसलिए बढ़े हुए हैं क्योंकि पुराने टेंडर की तारीख ख़त्म हो चुकी है। ऐसे में जिन जिलों में पहले से ही आदेश मिले थे वहां पर 50 फ़ीसदी बंदोबस्त कर के बालू का शुल्क लिया जा रहा है। फिलहाल के लिए इस अवधि को 1 अक्टूबर 2021 से लेकर 31 मार्च 2022 तक बढ़ाया गया है। अब जल्द ही हमें बालू से जुड़ा सारा काम दोबारा से शुरू होता नजर आएगा।