Bihar से गुजरने वाले 1400 Km के 5 NH पर 144 हाट स्पाट, हर 15 KM पर लगेंगे कैमरे व स्पीडगन..

डेस्क : बिहार से होकर गुजरने वाले पांच राष्ट्रीय राजमार्गो पर 50 प्रतिशत से अधिक सड़क दुर्घटनाएं हो रही हैं। इनमें NH2 का वाराणसी-औरंगाबाद, NH-28 का छपरा-बेतिया-लौरिया-बगहा, NH-30 का पटना-बख्तियारपुर, NH-31 का बरौनी-मुजफ्फरपुर-पिपराकोठी और NH-57 का मुजफ्फरपुर-दरभंगा-पूर्णिया खंड भी शामिल है। करीब 1400 KM लंबे इन पांच राष्ट्रीय राजमार्गों पर दुर्घटनाओं के 114 हाट स्पाट चिह्नित भी किए गए हैं। अब इन पांचों हाइवे पर सड़क दुर्घटनाएं रोकने के लिए आधुनिक उपकरणों की मदद भी ली जाएगी।

राज्य के गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद की अध्यक्षता में पिछले दिनों हुई सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में दुर्घटनाओं को रोकने के तमाम उपायों पर भी चर्चा की गई। पांचों NH पर पहले चरण में प्रत्येक 10 से 15 KM की दूरी पर स्पीडगन, कैमरा, चालान की प्रति तैयार करने के लिए आवश्यक उपकरण आदि लगाने का भी निर्देश दिया गया है। इसके लिए फोरलेन के दोनों ओर उपकरणों को स्थापित करने को भी कहा गया है। NH के पास कंट्रोल रूम भी स्थापित करने को कहा गया है, जिससे ओवर स्पीड गाड़ियों की मानीटरिंग के साथ चालान भी किया जा सके।

इंटरसेप्टर रखेगा पैनी नजर : राज्य के गृह विभाग ने ट्रैफिक IG को हाल ही में खरीदे गए 17 इंटरसेप्टर वाहनों को पांचों नेशनल हाइवे पर तैनात करने का निर्देश दे दिया है। इसके लिए आइजी को इंटरसेप्टर वाहनों का लोकेशन भी तय करने के साथ ही हैंडहेल्ड डिवाइस भी उपलब्ध कराने का भी निर्देश दिया गया है, ताकि तत्काल चालान काटा जा सके। इंटरसेप्टर वाहनों में स्पीड गन के साथ अत्याधुनिक कैमरा व स्क्रीन लगी दी गयी होती हैं। नेशनल हाइवे से गुजरने वाले वाहनों की गति स्पीड गन मापकर स्क्रीन पर दिखाती है। साथ ही कैमरा गाड़ी के नंबर प्लेट की तस्वीर भी खींच लेता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *