Patna Metro निर्माण की तेज हुई कवायद- प्रोजेक्‍ट के लिए मिल गई 70% जमीन, जानें – कब तक पूरा होगा काम

30
bihar patna metro station
bihar patna metro station

डेस्क : नीतीश सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक पटना मेट्रो (Patna Metro) का निर्माण कार्य जोरों शोरों पर है, मेट्रो निर्माण कार्य में जो भी बाधाएं थी, अब धीरे-धीरे दूर होती जा रही है, जानकारी के मुताबिक, मेट्रो निर्माण कार्य को लेकर लंबे अरसे से चल रहे है भूमि अर्जन की बाधा अब खत्म हो गई, कार्य के लिए 70 प्रतिशत से अधिक जमीन पर काम की हरी झंडी मिल चुकी है।

अधिकारियों के मुताबिक, जल्द ही शेष जमीन की बाधा भी दूर हो जाएगी। पटना मेट्रो की प्रगति रिपोर्ट के अनुसार, निर्माण कार्य के लिए 72.56% जमीन उपलब्ध है। मेट्रो परियोजना के सिविल वर्क का कुल खर्च 4695.49 करोड़ है। इसमें भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) और पथ निर्माण विभाग की जमीन पर ही 3407 करोड़ से अधिक का काम होना है।

आपको बता दे की मेट्रो परियोजना के लिए करीब 43.95 हेक्टेयर जमीन की दरकार है। इसमें सरकारी और निजी दोनों तरह की भूमि शामिल है। इसमें 31 हेक्टयर यानी 70.55% जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। इसमें मेट्रो डिपो की करीब 76 एकड़ जमीन भी शामिल है। मेट्रो डिपो की जमीन के लिए अधिसूचना अक्टूबर में ही जारी हो चुकी है। दावा-आपत्ति के बाद इसी माह जमीन अधिग्रहण का मुआवजा मिलने की उम्मीद है।

जबकि, करीब 10.95 हेक्टेयर सरकारी जमीन की दरकार है, जिसमें NHAI से 6.35 हेक्टेयर जमीन पर काम की अनुमति मिल चुकी है। इस तरह 60% सरकारी जमीन भी काम के लिए उपलब्ध है। केंद्र सरकार के अधीन चार संस्थानों में मेट्रो की जमीन फंसी है। इसमें दानापुर छावनी क्षेत्र की 934 वर्ग मीटर जमीन हस्तांतरण का प्रस्ताव रक्षा मंत्रालय में लंबित है। राजेंद्रनगर रेलवे स्टेशन की 1277 वर्ग मीटर जमीन भी मेट्रो को हस्तांतरित होनी है, जिसका प्रस्ताव रेलवे के विचाराधीन है।