बिहार की सडकों पर जल्द आने वाली हैं 8 इलेक्ट्रिक AC बसें, जाने पहले फेज में कहाँ से चलेंगी कहाँ तक

Bihar electric buses

डेस्क : भारत में सरकार कई ऐसी योजनाएं बना रही है जिसके चलते वह जल्द से जल्द भारत की सड़कों पर इलेक्ट्रिक वाहन उतार सके। बता दें कि बीते दशक में प्रदूषण के कारण अनेकों बीमारियां हो चुकी हैं। जिसमें लंग कैंसर प्रमुख है। इसके बाद ध्वनि प्रदूषण के कारण लोग बीमार हुए हैं। बसों में इंधन के तौर पर तेल का इस्तेमाल किया जाता है जिसके चलते भारत को तेल गल्फ देशों से लाना पड़ता है और गल्फ देश अपने हिसाब से तेलों के दाम तय करते हैं।

इस वजह से भारत में पेट्रोल और डीजल के दाम हमेशा ऊपर नीचे होते रहते हैं और इसका दाम आम-आदमी की जेब पर पड़ता है। कई राज्य इलेक्ट्रिक व्हीकल सड़कों पर उतारने के लिए अनेकों योजनाएं चला रहे हैं। बिहार सरकार ने फैसला लिया है कि वह जल्द से जल्द इलेक्ट्रिक बस लाने वाले है। बिहार ट्रांसपोर्ट की ओर से आदेश आया है कि शुरुआती स्तर पर वह 25 बस चलाने की योजना बना चुकें है, जिसमें से पटना पहले स्थान पर आता है। बता दें कि यह बसें आम बसों के मुकाबले ज्यादा बेहतर है और इनकी कीमत सवा सौ करोड़ रूपया है।

बात करें कि यह बसें कहां पर मौजूद है तो बिहार में सेंट्रल वर्कशॉप का निर्माण किया है गया है जो फुलवारी शरीफ में मौजूद है। सभी बसें यहीं पर लगाई गई हैं और इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन भी यही तैयार किया जा रहा है। यह बस एक बार मैं चार्ज होने पर ढाई सौ किलोमीटर का एवरेज देगी। इस बस में सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए गए हैं। बस में 3 कैमरे लगाए गए हैं और ड्राइवर के सामने एलसीडी स्क्रीन भी मौजूद है। मोबाइल चार्जिंग पोर्ट के साथ सिक्योरिटी सिस्टम भी मौजूद है। यह बस में AC की सुविधा भी दी गई है और इसमें किसी भी प्रकार का शोर अंदर नहीं घुस सकता है। बात करें सीटिंग कैपेसिटी की तो इस बस में 30 यात्री बैठ सकते हैं। बसों के लिए जितनी भी कागजी कार्यवाही थी वह सरकार द्वारा पूरी की गई है। अब जल्द ही हम को बिहार के हाईवे एवं सड़कों पर यह बसें दौड़ती नजर आएंगी।

बसों को चार्ज करने के लिए एक बड़ी जगह की जरूरत थी, जो कि फुलवारी शरीफ में सरकार को मिल गई। बता दें कि यहां पर आधे एकड़ में इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन तैयार किया गया है और 75 फ़ीसदी कार्य पूरा हो गया है। एक बार में 8 बस चार्ज की जा सकती हैं। जैसे ही यह बस सड़कों पर चलना शुरू हो जाएंगी तो पटना से राजगीर और पटना से मुजफ्फरपुर का रास्ता जल्द पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद राजगीर में भी स्टेशन तैयार किया जा रहा है। बस एक तरफा चलने के बाद अपने आप को फिर से चार्ज कर पाएगी। प्लेटफार्म की तैयारियां भी जोर-शोर पर चल रही है। आपको बता दें कि इन बसों में बैठने के लिए किराया भी ज्यादा वसूला जाएगा। अब देखना यह होगा कि यह बिहार की तरक्की में चार चांद लगा पाती है या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *