बिहार में सर्पदंश के पश्चात हुई मौत पर सरकार की तरफ से मिलेगा 5 लाख का मुआवज़ा

डेस्क : गाँव देहात के इलाकों में अभी भी ऐसी समस्या बनी रहती है की वहां के गाँव घर में कभी भी सांप निकल आता है। सांप जैसे जीव गर्मी में काफी आक्रामक होते है और गर्मी बढ़ने की वजह से बाहर विचरण करने निकल पड़ते हैं, सांप अक्सर रहने के लिए ठंडा आशियाना ढूँढ़ते हैं। कई बार वह सुरक्षा पाने के लिए इंसानो की बस्ती और घर में आ जाते हैं और इंसानो को नुक्सान पहुंचाते हैं। कई लोगो की जान सांप के काटने से चली जाती है और इसका कोई हर्जाना सरकार की तरफ से नहीं मिलता है।

इस बार के बिहार बजेट सत्र में विधायकों ने यह आवाज़ जमकर उठाई की किसी भी इंसान को सांप डस लेता है और उसकी मृत्यु हो जाती है तो उसको 5 लाख की राशि सरकार की ओर से मिले। इस विचार पर सभी नेता और वरिष्ठ नेता राजी हैं। उप मुख्यमंत्री रेनू देवी ने बताया की अगर राज्य में बाढ़ आ जाती है तो अक्सर सांप बाहर आ जाते हैं और लोगों को काट लेते हैं जिसके चलते सरकार ने यह प्रावधान भी किया है की बाढ़ के दौरान अगर सांप काट ले तो उसको बाढ़ बचाव के तहत जायज़ मुआवज़ा मिलेगा, लेकिन सूखे के दौरान सांप काट ले तो उसका कोई प्रावधान नहीं है।

सांप के डसने के बाद व्यक्ति की मौत हो जाती है तो परिवार पर असर पड़ता है और इस बात की चिंता सदन में मौजूद हर विधायक ने की है, बता दें की इस मुद्दे को सदन में पहले भी 2 बार उठाया जा चुका है और अब तीसरी बार उठाया जा रहा है। उम्मीद जताई जा रही है की जल्द ही इस पर कानून तैयार किया जाएगा और लोगों को जरूर राहत मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.