Importance Of Marriage : शादी करना क्यों है जरुरी? जानें- वेद के मुताबिक इसका महत्व….

Importance Of Marriage : शादी किसी भी स्त्री पुरुष के जीवन का एक महत्वपूर्ण दिन माना जाता है। शादी के बंधन में बंध कर लड़का लड़की हमेशा एक दूसरे का साथ निभाने की कसम खाते हैं। शादी (Marriage)एक पवित्र बंधन है। वेदों में विवाह का विस्तार से उल्लेख किया गया है। तो चलिए जानते हैं विवाह को लेकर वेद क्या कहता है?

विवाह एक पवित्र रिश्ता

विवाह (Marriage) एक पवित्र रिश्ता है। जिसमें दो अनजान व्यक्ति अग्नि को साक्षी मानकर एक दूसरे का साथ निभाने की कसम खाते हैं। विवाह के बंधन में बंध कर वर वधु अपनी आध्यात्मिक और सांसारिक यात्रा शुरू करते हैं। वेद के अनुसार विवाह को जीवन का (Importance Of Marriage) मुख्य कर्तव्य माना गया है।

शादी करना क्यों है आवश्यक?

शादी (Marriage) करना आवश्यक है क्योंकि शादी के बंधन में बंध कर वर वधु आध्यात्मिक और सांसारिक यात्रा शुरू करते हैं। शादी का मतलब केवल बच्चे पैदा करना नहीं होता। विवाह आपको आध्यात्मिक विकास और जीवन मृत्यु चक्र से मुक्ति दिलाता है। सृष्टि के संचालन के लिए वेदों में विवाह करना आवश्यक बताया गया है। पति पत्नी के बीच का रिश्ता शिव और पार्वती के पवित्र रिश्ते का प्रतीक माना जाता है।