बेगूसराय में बबिता ने की मुहम्मद कुर्बान से शादी, पहली हुई गर्भवती फिर थाने में जाकर ऐसे तोड़ी मजहब की दिवार

11
begusarai intermarriage shadi

डेस्क : यदि प्यार सच्चा हो तो उसको कोई नहीं रोक सकता। बता दें कि किसी भी प्रकार से धर्म और मजहब की दीवार दो प्यार करने वालों के बीच नहीं आती। कुछ ऐसा ही नजारा हमें एक बार बेगूसराय में फिर से देखने को मिला है जहां पर एक मुस्लिम युवक ने हिंदू युवती के साथ शादी रचा ली है। बता दे कि दोनों ने अपने घर परिवार की चिंता छोड़ कर एक अलग दुनिया बसाने का प्रयास किया है।

महिला तेघड़ा क्षेत्र के चडवा गांव की रहने वाली बताई जा रही है, जिसका नाम बबीता है और लड़के का नाम मोहम्मद कुर्बान है जो दनियालपुर गांव से है। दोनों एक दूसरे से बेतहाशा प्यार करते हैं। दोनों एक दूसरे के प्यार में इतना ज्यादा पागल थे कि बबीता गर्भवती हो गई। ऐसे में बबीता ने अपने घरवालों को बताया कि वह मोहम्मद कुर्बान से शादी करना चाहती है तो घर वालों ने जाति की दुहाई देकर उसको ऐसा करने से मना किया। लेकिन बबीता नहीं मानी। घर वालों ने तो यह भी कोशिश की बबिता का गर्भपात करवा दिया जाए लेकिन बबीता ने अपने परिवार के आगे हार नहीं मानी।

ऐसे में बबीता का कहना है कि उसने पूरी समझदारी दिखाते हुए यह फैसला लिया है कि वह जाति के खिलाफ जाकर शादी करेगी। बबीता ने अपना दिमाग का इस्तेमाल किया और उसने तेघरा थाना में जाकर अपनी बात बेबाकी से संजय कुमार के आगे रख दी। संजय कुमार ने दोनों को थाने में बुलाया और वही शादी करवा दी। फिलहाल के लिए दोनों की शादी पूरे इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है। बता दें कि अंतर जाती प्यार करने वालों को आज तक हमारे समाज में जगह नहीं मिली है। ऐसे में कई परिवार इसके खिलाफ हैं, लेकिन जब दो प्यार करने वाले एक साथ टिके रहते हैं तो उनके आगे हर ताकत झुक जाती है।