बिहार : जदयू के पूर्व विधायक के बाद उपमुख्यमंत्री के बयान से सामने आया एनडीए में मतभेद, क्या राज्य में जल्द गिरेगी सरकार?

Deputy CM Bihar

बिहार में हाल-फिलहाल में जदयू और भाजपा के नेताओं ने ऐसे बयान दिए हैं , जिनसे राज्य में एनडीए गठबंधन के भविष्य पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। दरअसल मंगलवार को जदयू के पूर्व विधायक ने एक कार्यक्रम में बोलते हुए कहा था कि राज्य में कभी भी गठबंधन टूट सकता है इसलिए कार्यकर्ता नीतीश कुमार को मजबूत करें, तो वही आज उपमुख्यमंत्री तारकेश्वर प्रसाद का भी दर्द छलक पड़ा।

क्या कहा उपमुख्यमंत्री ने- राज्य के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने आज भाजपा महिला मोर्चा के एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि राज्य में सीटों के मामले में तो भाजपा बड़े भाई की भूमिका में है। लेकिन, सरकार की नीतियों में उन्हें भाजपा का असर नहीं दिखाई पड़ता है। उन्होंने कहा कि आने वाले कुछ दिनों में हो सकता है कि राज्य में भाजपा का असर दिखाई पड़े। तारकिशोर प्रसाद का यह बयान ऐसे समय में बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि राज्य में अक्सर भाजपा और जदयू के नेता एक दूसरे के खिलाफ बयानबाजी कर रहे हैं।

जदयू के पूर्व विधायक ने की गठबंधन टूटने की बात- सिवान से जदयू के पूर्व विधायक श्याम बहादुर सिंह ने मंगलवार को एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि बिहार में कभी भी गठबंधन टूट सकता है, इसलिए कार्यकर्ता नीतीश कुमार को मजबूत करने में लग जाए। श्याम बहादुर सिंह ने भाजपा पर धोखा देने का भी आरोप लगाया। पूर्व विधायक जब मंच से ये सब बयान दे रहे थे तो उस वक्त मंच पर जदयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा भी मौजूद थे। जदयू के पूर्व विधायक द्वारा पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के सामने ऐसा बयान दिए जाने से पूरे राज्य में सियासी अटकलों का दौर जारी हो गया है। सभी लोग यही जानना चाह रहे हैं की क्या बिहार में फिर से सत्ता परिवर्तन हो सकता है।

एनडीए में बढ़ रही है तकरार- राज्य में सरकार चलाने को लेकर भाजपा और जदयू के नेता अक्सर एक दूसरे पर निशाना साधते रहते हैं। शराबबंदी और कानून व्यवस्था के मामले में नीतीश कुमार विपक्ष के साथ साथ भाजपा नेताओं के भी निशाने पर आ गए हैं। तो वहीं जदयू के नेता विधानसभा चुनाव में जदयू की कम सीटों के लिए भाजपा को जिम्मेदार मानते हैं। ऐसे में अब देखने वाली बात होगी कि राज्य में यह गठबंधन कितने दिनों तक चलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *