बिहार बनेगा उद्योग का हब! उद्यमी लगायेंगे राज्य में Textile Unit, हजारों युवाओं को मिलेगा रोजगार..

डेस्क : बिहार के मूल निवासी और मुंबई में काम कर रहे कुल 21 उद्यमियों ने गुरुवार को उद्योग विभाग के शीर्ष अधिकारियों से मुलाकात की. इन सभी लोगों ने बिहार स्थित ढाका, मोतिहारी एवं अन्य दूसरी जगहों पर नई कपड़ा यूनिट लगाने की इच्छा जाहिर की है. इस संबंध में एक कार्ययोजना भी प्रस्तुत की गयी है. उद्योग विभाग के अधिकारियों ने उन्हें बताया कि बिहार में टेक्सटाइल सेक्टर में बेहद अच्छी संभावना है.

बिहार की टेक्सटाइल निवेश से जुड़ी पॉलिसी भी बेहद पसंद आयी है : इस संदर्भ में उद्योग विभाग के प्रधान सचिव संदीप पोंड्रिक ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैडल पर सूचना भी जारी की है. सूत्रों के अनुसार उद्यमियों को बिहार की टेक्सटाइल निवेश से जुड़ी पॉलिसी बेहद पसंद आयी है. इन पॉलिसी के तहत बिहार में स्थापित होने वाले निजी क्षेत्र की टेक्सटाइल इकाइयों में काम करने वाले श्रमिकों को भी सरकार 5000 रुपये तक हर महीने वेतन देगी.

पूर्ण कुशल श्रमिक को 5000 तक वेतन मिलेगा : इस पॉलिसी के तहत अर्ध कुशल को 3000, कुशल को 4000 और पूर्ण कुशल श्रमिक को 5000 रुपये तक वेतन देगी. यह उनके फर्म की तरफ से तय वेतन के अतिरिक्त देय होगा. इसके अलावा पूंजीगत अनुदान, रोजगार अनुदान, बिजली अनुदान, भाड़ा अनुदान, पेटेंट अनुदान समेत कई तरह के प्रोत्साहन राशि भी देने की घोषणा की गयी है. बिहार के अधिकारियों ने उन उद्यमियों को यह बताया कि बिहार में देश भर के टेक्सटाइल कुशल मजदूरों में 60 प्रतिशत अकेले बिहार के हैं. इनमें अधिकतर कुशल श्रमिक हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *