बिहार सरकार का आदेश, बिना किसी परीक्षा के ही बच्चे अगली क्लास के लिए होंगे प्रोन्नत

Bihar Board students will not fail from class 5 to 8

डेस्क : बिहार सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। यह फैसला अपने आप में ऐतिहासिक फैसला है, बता दें कि इस फैसले के अनुसार जो बच्चे पांचवी कक्षा में पढ़ रहे हैं और वह फेल हो जाते हैं तो उनको फेल नहीं किया जाएगा। हालांकि, यह फैसला पांचवी, छठी, सातवीं आठवीं तक के बच्चों के लिए लिया गया है। बच्चों को बिना फेल करे ही आगे की कक्षा में भेज दिया जाएगा।

यह फैसला सरकार ने शिक्षा नियमावली 2019 का नियम 10 (क) के तहत लिया है जहाँ पर यह साफ़ लिखा है की कक्षा पांच से आठ के लिए वार्षिक परीक्षा का आयोजन अनिवार्य है। वापस से शुरू किए गए विद्यालयों में यह साफ़ कहा गया है की अगर कोई भी बच्चा परीक्षा में अनुपस्थित हो जाता है तो उसको उसी कक्षा में ना रोककर आगे बढ़ा दिया जाएगा क्यूंकि कोरोना के चलते किसी भी तरह की क्लास नहीं ली जा सकी थी। साल 2019 की नई शिक्षा नीति में यह साफ कहा गया है कि जो भी बच्चे पास नहीं हो सकते हैं उनको आगे नहीं बढ़ाया जाएगा। लेकिन, कोरोना महामारी के चलते विद्यालय के अध्यापक बच्चों को पढ़ाई नहीं करवा पाए, जिसके चलते अब विद्यालयों में फैसला लिया जा रहा है कि जैसे भी करके बच्चों को प्रोन्नत किया जाएगा।

कोरोना बीमारी के चलते बच्चों की पढ़ाई पर गहरा असर पड़ा है, कई बच्चे तो स्कूल जाने के नाम पर पहले बहाने बनाते थे लेकिन अब वह जिद करते और लड़ते झगड़ते नजर आ रहे हैं। राज्य के कई बच्चों को घर पर रहने की आदत लग चुकी है। कोरोना के बाद से डिजिटल पढ़ाई करने का तौर तरीका आ चुका है और कई लोग डिजिटल तौर तरीके से ही पढ़ना एवं पढ़ाना पसंद कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *