Bihar सरकार 7 राज्यों में खुलेगी माइग्रेशन सपोर्ट सेंटर, दिहारी मजदूर को मिलेगी ये सुविधाएं..

डेस्क : बिहार में अलग-अलग राज्यों से कई मजदूर और युवा रोजगार के लिए आते हैं इसीलिए सरकार ने उनके सहयोग के लिए माइग्रेशन सपोर्ट सेंटर खोले हैं। इसकी शुरुआत 7 राज्यों से की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत श्रम संसाधन विभाग ने पूरी तैयारी कर ली है। जिस राज्य के शहरों के मजदूरों की संख्या अधिक होगी वहां यह सेंटर खोला जाएगा ताकि वहां रहने वाले मजदूरों के रहन-सहन में होने वाली हर समस्या का समाधान किया जा सके।

यह सेंटर 6 महीने में बन जाएगा

विभिन्न राज्यों के श्रम विभाग की ओर से इस दिशा में काम शुरू कर दिया गया है। माइग्रेशन सपोर्ट सेंटर खोलने के बाद श्रम संसाधन विभाग के अधिकारी वहाँ के अधिकारी के साथ समन्वय स्थापित कर मजदूरों को सुविधाएं दिलवाएगे। श्रम विभाग ने माइग्रेशन सपोर्ट सेंटर खोलने के लिए एनजीओ या इंडस्ट्री को पटना बनाने का सोचा है विभागीय अधिकारियों को निगरानी रखना होगा। एनजीओ इंडस्ट्री पार्टनर के साथ एमओयू हो ।विभागों की तरफ से ऑनलाइन निगरानी भी रखी जाएगी।

20 से 40 परसेंट मजदूर जब काम के लिए यहां आते हैं तो वह पहले 3 माह में ही लौट जाते हैं क्योंकि उनको यहां रहन-सहन में काफी मशक्कत करनी पड़ती है। उनके रहन-सहन को आसान बनाने के लिए ही सेंट्ररो का निर्माण किया जा रहा है। इन सेंटरों के निर्माण से हर राज्यों से आने वाले मजदूरों को किसी भी तरीके की कोई समस्या नहीं होगी वरन् उन्हें सारी सुविधाएं मिलेंगी जिससे वह अपने कार्य को सुचारू रूप से कर सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *