बैडमिंटन प्रतियोगिता 2023 : महज 12 की उम्र में रजत मेडल जीतकर बिहार की काव्या ने रचा इतिहास..

डेस्क : प्रतिभावान व्यक्ति किसी का मोहताज नही होता उसे बस एक अवसर की तलाश होती हैं एक ऐसे ही मौके पर चौका मारा है बिहार के मुज्जफरपुर की 12 वर्षीय काव्या कश्यप ने, काव्या कश्यप ने ऑल इंडिया सब जूनियर नेशनल रैंकिंग बैडमिंटन प्रतियोगिता 2023 के ड्यूल मुकाबले में सिल्वर मेडल जीता है।

बिहार के मुजफ्फरपुर के दामुचक चौक पर रहकर पढ़ाई कर रहे काव्या कश्यप के पिता एक व्यवसायी हैं। मूलरूप से बिहार के वैशाली जिले के भगवानपुर के रहने वाले सुशांत चुनचुन प्रकाश जो काव्या कश्यप के पिता हैं । उन्होंने बिहार के मुजफ्फरपुर से ही MBA किया और परिवार के साथ मुजफ्फरपुर में ही रहकर अपना व्यवसाय कर रहे हैं।

बचपन से ही है काव्या को खेलने का शौक : काव्या कश्यप के पिता सुशांत चुनचुन प्रकाश बताते हैं की बचपन से ही काव्या कश्यप खेलने के प्रति शौक रखता है। बचपन में अपने घर के कैंपस में बैडमिंटन का रैकेट पकड़ने वाले काव्या ने इसके बाद से कभी पीछे मुड़कर नही देखा ।

शिक्षकों का मिला हमेशा सहयोग : काव्या कश्यप के खेल के प्रति दीवानगी को देखकर इसके स्कूल के शिक्षक समरेश कुमार ने भी भरपूर योगदान भी दिया। वेस्ट बंगाल बैडमिंटन एसोसिएशन कोलकाता के तत्वाधान में योनेक्स सनराइज ऑल इंडिया सब जूनियर नेशनल रैंकिंग की बैडमिंटन प्रतियोगिता 2023 के युगल मुकाबले में अंडर 13 में मुजफ्फरपुर से बिहार राज्य का प्रतिनिधित्व करते हुए ने काव्या कश्यप ने सिल्वर मेडल जीतकर प्रदेश का सर गर्व से ऊंचा किया हैं

फाइनल में मिली हार : यह मालूम हो कि वेस्ट बंगाल में 9 जनवरी को प्रतियोगिता का युगल फाइनल मैच राजस्थान के पांचवी वरीयता प्राप्त अंशुमान चौधरी एवं कन्दराप शर्मा और बिहार के प्रथम वरीयता प्राप्त काव्या कश्यप एवं मोहम्मद अब्दुल्लाह के बीच में खेला गया। जिसमें राजस्थान के खिलाड़ी ने इस कड़े मुकाबले में 21-14, 23-21 के अंतराल से बिहार के खिलाड़ी काव्या कश्यप को शिकस्त दे दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *