बिहारी लड़के से हुआ इंडोनेशिया की लड़की को प्यार, सात समंदर पार आकर रचाई शादी

इंडोनेशिया की एक युवती का दिल बिहारी बाबू पर आ गया। जी हां, सेइल्लीना मेनाक (Soilina) और हर्षवर्धन की मुलाकात हुई। धीरे-धीरे दोनों एक दूसरे से प्यार कर बैठे। दोनों ने शादी करने का फैसला लिया। लेकिन शुरुआत में दोनों के परिवार वाले इस शादी के खिलाफ थे। मगर उन्होंने हार नहीं मानी और अपने परिजनों को मानते रहे। बाद में परिवार वालों ने भी इस शादी के लिए मंजूरी दे दी। इसके बाद दोनों ने शादी कर ली। दुल्हन इंडोनेशिया के नौर्थ सुमात्रा प्रोविंस स्थित सिबोरोगबोरोगा की रहने वाली है। जबकि दूल्हा पताही के परसौनी गांव का रहने वाला है।

कैसे हुआ प्यार

हर्षवर्धन ने बताया कि वह ताइवान में पोस्ट डॉक्टोरल साइंटिस्ट के रूप में कार्य कर रहा था। वहीं पर सोइल्लीना फाइनेंस में एमएस कर रही थी। इसी दौरान उनकी नजदीकी बढ़ी और उन्हें एक दूसरे से प्यार हो गया। दोनों एक दूसरे से इतना प्यार करने वालों की उन्होंने शादी करने का फैसला लिया। अंत में दोनों ने हिंदू रीति रिवाज से शादी कर ली। हर्षवर्धन का कहना है कि सोइल्लीना को हिंदू कल्चर से अवगत कराना था इसीलिए हिंदू रीति रिवाज से उनसे शादी की। जिसके लिए वे अपने पैतृक गांव आए।

गांव में हुई शादी

हर्षवर्धन के पिता अखिलेश कुमार सिंह ने बताया कि इस शादी से वह बहुत खुश है। वहीं हर्षवर्धन की मां ने बताया कि मेरा पूरा परिवार खुश है। दुल्हन बहुत अच्छी है। वह धीरे-धीरे सब कुछ सीख समझ जाएगी। हर्षवर्धन के पैतृक गांव पताही के परसौनी में गुरुवार को शादी की पूरी तैयारी की गई।

इस शादी में तमाम सगा संबंधी और नजदीकी लोग आमंत्रित किए गए थे। हिंदू रीति रिवाज से हुई शादी से दुल्हन काफी खुश दिखाई दे रही थी। शुक्रवार को शादी का रिसेप्शन रखा गया था। काफी संख्या में लोगों को आमंत्रित किया गया था। लोगों ने वर वधु को आशीर्वाद दिया। इस शादी को लेकर लोगों में अलग उत्साह दिखाई दे रहा था। शादी के मौके पर दुल्हन की मां भी पहुंची थी। दुल्हन की मां सोली सिपाहुतार यहां के कल्चर और रीति रिवाज की प्रशंसा करते नहीं थक रही थीं।

Leave a Comment