बिहार : अब डाकिया, ANM व आंगनबाड़ी सेविका भी संभालेंगी BLO की कमान..

डेस्क : चुनाव आयोग ने शिक्षक के अलावा डाकिया, NM और आंगनबाड़ी सेविका को भी BLO (बूथ लेवल आफिसर) बनाने के निर्देश दिए हैं। इस पहल से चुनाव आयोग को 9 नवंबर से शुरू होने जा रहे मतदाता सूची के पुनरीक्षण में सहूलियत होगी। आयोग ने इस संबंध में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारियों (CEO) को सूचित कर दिया है।

6 हजार रुपये मानदेय का होगा भुगतान : BLO बनाए जाने वाले सरकारी एवं अर्द्ध सरकारी कर्मियों की विस्तृत सूची भेजी गई है। सूची में अमीन, कर्मचारी, लेखापाल, पंचायत सचिव, हेल्थ वर्कर और नगर निकायों के कर संग्रहकर्ताओं की सेवा भी BLO के रूप लेने के लिए CEO को अधिकृत किया है। BLO की जिम्मेदारी निभाने वाले कर्मियों को आयोग प्रतिवर्ष 6 हजार रुपये मानदेय का भुगतान करता है।

चलेगा वोटर लिस्ट पुनरीक्षण का अभियान : आयोग स्कैनर मशीन से फोटो मैच कर बोगस वोटर की स्क्रूटनी का भी अभियान चला रहा है। इसके तहत प्रदेशभर के करीब 10 लाख बोगस वोटर का नाम मतदाता सूची से हटा दिया गया है। प्रदेश में अंतिम मतदाता सूची का प्रकाशन 5 जनवरी-2022 में किया गया था। इसके बाद आयोग द्वारा राज्य की सभी विधानसभाओं की मतदाता सूची से डुप्लीकेट वोटरों के नाम हटाने के लिए कार्रवाई भी की गई है। आयोग द्वारा सिमलर फोटो साफ्टवेयर के माध्यम से डुप्लीकेट वोटरों का मिलान भी कराया गया।

एक मतदाता के 2 फोटो के मिलान पर राज्य के 9 लाख 81 हजार 921 मतदाताओं का नाम मतदाता सूची से हटा दिया गया है। अब चुनाव आयोग ने पहली जनवरी 2023 को 18 साल की उम्र पूरी कर चुके को वोटर लिस्ट में शामिल किए जाने के लिए दावे और आपत्तियां प्राप्त करने की अवधि 9 नवंबर 8 दिसंबर तय की है। आयोग के निर्देश के अनुसार इस अवधि के बीच शनिवार 12 नवंबर, रविवार 20 नवंबर, शनिवार 26 नवंबर और रविवार 4 दिसंबर को 4 विशेष दिवस आयोजित किए जाएंगे। विधानसभावार वोटर लिस्ट पुनरीक्षण अभियान भी चलाया जाएगा।

Leave a Comment