Bihar के सभी मेडिकल-इंजीनियरिंग कॉलेजों की एक तिहाई सीटें लड़कियों के लिए होगी आरक्षित..

डेस्क : बिहार में महिलाओं के लिए कई विभागों में आधे से ज्यादे सीटें आरक्षित की गई है। इसी कड़ी में मेडिकल के छात्राओं के लिए अच्छी खबर है। बीते शुक्रवार को सरायरंजन के नरघोघी में नए बने इंजीनियरिंग कॉलेज के उद्घाटन कार्यक्रम में पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि नए खुल रहे मेडिकल – इंजीनियरिंग कॉलेज में लड़कियों के लिए एक तिहाई सीटें आरक्षित होंगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में महिलाओं और लड़कियों के विकास के लिए सरकार लगातार काम कर रही है। पंचायत चुनाव में महिलाओं को दिया गया आरक्षण आजीविका के माध्यम से विकास के पथ पर आगे बढ़ रहे हैं। स्कूल में छात्राओं के लिए साइकिल व ड्रेस योजना चलाई गई। इससे स्कूलों में छात्राओं की संख्या में इजाफा हुआ है। मैट्रिक परीक्षा में अब लड़कियों की संख्या लड़कों के बराबर हो गई है। उन्होंने कहा कि कर्पूरी ठाकुर से अपने संबंधों के कारण समस्तीपुर से उनका विशेष लगाव है।

केंद्र सरकार पर साधा निशाना : मुख्यमंत्री ने इस सभा को संबोधित करते हुए राजनीतिक कटाक्ष करते नजर आए। उन्होंने देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी पर जम कर निशाना साधा। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे लोगों के साथ उनके जाने का सवाल ही नहीं उठता। उन्होंने बीजेपी नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी की तारीफ करते हुए कहा कि इन लोगों को मुझ पर भरोसा है। अटल बिहारी वाजपेयी ने उन्हें तीन विभागों का मंत्री बनाया। मुरली मनोहर जोशी ने उनके अनुरोध पर पटना इंजीनियरिंग कॉलेज को एनआईटी का दर्जा दिया। उन्होंने कहा कि वह चाहते थे कि अटल जी के बाद आडवाणी जी पीएम बनें, लेकिन उनका नाम हटाए जाने के बाद उन्होंने बीजेपी से गठबंधन तोड़ दिया।

Leave a Comment