बिहार सड़क हादसे मामले में देश के 9वें पायदान पर, NH पर हो रहे सबसे अधिक हादसे..जानें –

डेस्क : बिहार में पैदल सड़क पार करने के दौरान अक्सर होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए पटना सहित राज्य के कई अन्य शहरों में फुटओवर ब्रिज (FOB) बनाये जायेंगे. परिवहन विभाग FOB बनाने के लिए जगहों की पहचान करेगा, जबकि पथ निर्माण विभाग की ओर से FOB का निर्माण भी कराया जायेगा.

सड़क दुर्घटना के मामले में बिहार देशभर में 9वें स्थान पर : बिहार में गाड़ी चलाने के अलावा पैदल सड़क पार करते समय भी सड़क दुर्घटनाएं हो रही हैं. पहले देश में NH पर होने वाली सड़क दुर्घटनाओं में बिहार की हिस्सेदारी 3.3 प्रतिशत तक थी, जो बाद में बढ़ कर 3.5 प्रतिशत तक हो गयी है. केंद्र सरकार की ओर से जारी एक रिपोर्ट के अनुसार साल 2019 में बिहार में कुल 10007 सड़क दुर्घटनाएं हुई थीं. कोरोना काल वाले साल 2020 में मात्र कुल 8639 सड़क दुर्घटनाएं ही हुईं. साल 2019 में बिहार सड़क दुर्घटनाओं के मामले में देश में 16वें स्थान पर था, जबकि 2020 में बिहार 15वें स्थान पर आ गया. सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली मौत के मामले में बिहार देश में 9 वें पायदान पर है. बिहार में सबसे अधिक हादसे NHI की सड़कों पर हो रहे हैं.

तेज रफ्तार की वजह से 412 लोगों की गयी जान : वर्ष 2020 में तेज रफ्तार के कारण 518 सड़क हादसे हुए, इनमें कुल 412 लोगों की मौत हुई. कोरोना काल में कई महीने तक गाड़ियों के आवाजाही पर मनाही थी. इसी कारण उस वर्ष पैदल चलने वालों में कुल 3141 लोग सड़क हादसे के शिकार हुए, जिनमें कुल 2649 लोगों की मौत हो गयी. दो पहिया चालकों में कुल 2890 लोग हादसे के शिकार हुए, जिनमें कुल 2387 लोगों की जान गयी.

जहां पैदल सड़क पार करना मजबूरी, वहां बनेगा FOB : इस समस्या को देखते हुए विभाग ने तय किया है कि पटना सहित राज्य के सभी प्रमुख शहरों में FOB बनाने के लिए स्थल अब चिह्नित किये जाएं. खास कर वैसी सड़कें, जहां से आम लोगों की आवाजाही यानी सड़क पार करना एक मजबूरी है, और वहां सड़क दुर्घटनाएं भी हो रही हैं, वैसे स्थलों की पहचान भी की जायेगी. उम्मीद जतायी जा रही है कि राज्य में ऐसे दर्जनों स्थल हैं जहां FOB की नितांत आवश्यकता है. इन स्थलों को चिह्नित करने के बाद पथ निर्माण विभाग की ओर से FOB बनाये जायेंगे. जिला प्रशासन से भी ये अनुरोध किया जायेगा कि सामाजिक दायित्व के तहत सार्वजनिक उपक्रम की कंपनियों से FOB का निर्माण किया जाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *