Bihar के स्टूडेंट्स को फ्री मिलेगी इ-लाइब्रेरी, 280 से अधिक सरकारी कॉलेजों में मिलेगी ये सुविधा..

डेस्क : बिहार में सभी यूनिवर्सिटी से संबद्ध करीब 280 से अधिक सरकारी कॉलेजों में E-लाइब्रेी की सुविधा दी जायेगी. इसके लिए सभी कॉलेजों की लाइब्रेरी को ऑनलाइन जोड़ा जा रहा है. इसमें विशेष बात यह होगी कि देशदुनिया के तमाम बड़े विश्वविद्यालय की विशेष व दुर्लभ E-बुक्स को भी इसे कनेक्ट किया जायेगा. इससे रिसर्च स्कॉलर को भी काफी फायदा होगा. विशेष यह कि यह सुविधा विद्यार्थी को बिना किसी शुल्क के ही मिलेगी. इस तरह बिहार राज्य के उच्च शिक्षण संस्थानों के 23 लाख से अधिक विद्यार्थी इस सुविधा का लाभ उठा सकेंगे.

विश्वविद्यालयों को जरूरी दिशा-निर्देश जारी : E-लाइब्रेी को एन लिस्ट (नेशनल लाइब्रेी एंड इंफॉर्मेशन सर्विस इन्फ्रास्ट्रक्चर फॉर स्कॉलरी कंटेंट ) सर्विस का भी नाम दिया गया है. कॉलेज मात्र 5000 रुपये साल में संबंधित वेबसाइट काे सब्सक्राइब भी करेगा. फिलहाल इस संबंध में राज्य के शिक्षा सचिव असंगबा चुबा आओ ने प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों को जरूरी दिशा-निर्देश भी सोमवार को जारी किये. इन लिस्ट की यह सुविधा सभी पारंपरिक कॉलेजों के अलावा कृषि, इंजीनियरिंग, मेडिकल, फॉर्मेसी और नर्सिंग कालेजों तक को मिल सकेगी.

रिसर्च स्कॉलर्स को भी होगा फायदा : बिहार उच्चतर शिक्षा परिषद के शैक्षणिक सलाहकार डॉ NK अग्रवाल के मुताबिक इस तरह E-लाइब्रेरी की सुविधा मिल जाने से इसका सबसे बड़ा फायदा रिसर्च स्कॉलर्स को मिलेगा. ये देश-दुनिया के सभी अनुसंधानों से समय पर अपडेट भी हो सकेंगे. जिस वजह से रिसर्च कराने वाले गाइड का एकाधिकार भी टूटेगा. इस परिषद के शैक्षणिक सलाहकार डॉ गौरव सिक्का ने यह बताया कि बिहार की उच्च शिक्षा के लिए E-लाइब्रेरी और N लिस्ट की यह सुविधा एक क्रांतिकारी बदलाव साबित होगी. बिहार ने इस दिशा में यह प्रभावी कदम उठा दिया है. यह सुविधा UGC -इन्फ्लिबनेट नाम की एक संस्था उपलब्ध करायेगी.

निजी कॉलेज 30 हजार सालाना पर उठायेंगे ये लाभ : यह उल्लेखनीय है कि निजी कॉलेजों को यह सुविधा 30000 रुपये सालाना शुल्क पर मिलेगी. N लिस्ट लाइब्रेरी की व्यवस्था में USA, UK, जर्मनी आदि देशों के विश्वविद्यालयों की E–बुक पढ़ने की सुविधा मिलेगी. मिली जानकारी के मुताबिक विद्यार्थियों को N लिस्ट का लिंक और यूजर ID और पासवर्ड दे दिया जायेगा. विद्यार्थी इसका इस्तेमाल लैपटॉप, mobile और दूसरे डिजिटल माध्यमों पर भी कर सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *