98 दिन बाद खुल रहे हैं 50 प्रतिशत बच्चों के साथ बिहार के स्कूल और कॉलेज – लेकिन परेशानी है जस की तस

bihar school open

डेस्क : बिहार में आज से सभी शैक्षणिक संस्थान जैसे स्कूल कॉलेज और पढ़न पाठन के केंद्र खोले जा रहे हैं। यह सभी केंद्र 50% की आबादी से संचालित किए जाएंगे। बिहार में 98 दिनों के बाद बच्चे दोबारा सडकों पर बैग लेकर स्कूल और कॉलेज जाते नजर आएँगे। कोरोना की वजह से पूरे देश में 4 अप्रैल 2021 से हाहाकार मच गया था ऐसे में सभी राज्य सरकारों ने स्कूल और कॉलेज को बंद करने के सख्त आदेश दिए थे।

इसी प्रकार के आदेश बिहार सरकार ने भी जारी किए थे जिसमें कहा था की कोरोना महामारी जब दूर होगी तब स्कूल और कॉलेज खोलने का विचार करेंगे। ऐसे में आज वह दिन है जब दुबारा से स्कूल और कॉलेज आधी संख्या के साथ खोले जा रहे हैं। बिहार में लोकडाउन का फैसला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप द्वारा लिया गया था। अब कोरोना के मामलों में काफी हद तक कमी आ गई है। बता दें की 5 जुलाई की CMG बैठक में यह फैसला लिया गया की यह बच्चों के स्कूल और कॉलेज खोलने का सही टाइम है।

इस व्यवस्था को सही ढंग से चलने के लिए सभी जिलाधिकारी, कुलपति और जिला शिक्षा पदाधिकारियों के लिए लम्बी चौड़ी और एक बार में समझ आ जाने वाली गाइडलाइन जारी की है। सभी शैक्षणिक संस्थानों में यह आदेश जारी किए गए हैं की बच्चों को अभी 50 प्रतिशत की आबादी में ही बुलाना होगा और किसी भी प्रकार की भीड़ से उनको दूर रखना होगा। जब से स्कूल और कॉलेज खुलने की खबर आई है तब से बच्चों और शिक्षकों के चेहरे पर अलग ही ख़ुशी है। बिहार सरकार की गाइड लाइन के मुताबिक़ सभी शैक्षणिक संस्थानों के परिचालकों और अध्यापकों ने मौजूदा बेंच, पानी पीने का स्थल, फर्नीचर, उपकरणों, भंडारकक्ष,प्रयोगशाला, वाशरूम, किचेन और लाइब्रेरी को सुव्यवस्थित करने का कार्य शुरू कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *