क्या बिहार में फिर से होने वाला है खेला? BJP ने कहा – इतनी जल्दी महागठबंधन में आ गई दरार..

डेस्क : बिहार में सियासी समीकरण बदलने के बाद से सियासी आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर लगातार जारी है. BJP प्रदेश की महागठबंधन सरकार और घटक दलों पर लगातार हमलावर हो रही है. भारतीय जनता पार्टी ने अब महागठबंधन की एकता पर भी सवाल उठाया है. BJP का कहना है कि महागठबंधन एकजुट नहीं है. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि BJP ने आखिरकार महागठबंधन की एकता पर सवाल क्‍यों उठाया है? क्‍या सच में महागठबंधन दल में दरार आ चुकी है?

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जब से भाजपा से अलग होकर महागठबंधन का दामन थामा है, तभी से भाजपा लगातार ही हमलावर है. BJP न सिर्फ़ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर बल्कि महागठबंधन की एकता पर भी कई सवाल खड़े कर निशाना साध रही है. दूसरी तरफ, महागठबंधन के नेता भी BJP पर हमला करने के साथ-साथ एकजुटता दिखाने के लिए पहली बार एक मंच पर जदयू दफ़्तर में जुटे. महागठबंधन की इस बैठक में एक सहयोगी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (HAM) की तरफ़ से कोई भी शामिल नहीं हुआ. इससे भाजपा को महागठबंधन पर हमला करने का एक और अवसर मिल गया. भाजपा ने माहगठबंधन की एकता पर सवाल खड़ा करके चुटकी ली है.

बिहार विधानपरिषद में नेता प्रतिपक्ष सम्राट चौधरी ने यह ट्वीट किया, ‘महागठबंधन की प्रेस वार्ता में जीतन राम मांझी की पार्टी HAM का नुमाइंदा कहां है? इसे दलितों से नफ़रत समझें या मांझी का डर? वैसे सत्ताधारी महागठबंधन में इतनी जल्दी गांठ पड़ेगी हमने तो नहीं सोचा था. हमने तो पहले ही यह कह दिया था कि यह एक बेमेल गठबंधन है. ज़्यादा दिनों तक नहीं चलेगा. वहीं, जब HAM के वरिष्ठ नेता दानिश रिज़वान से इस बाबत सवाल पूछा गया तो उन्होंने हैरान करने वाला जवाब दिया हैं. दानिश रिज़वान कहते हैं की उनलोगों को प्रेस कॉन्फ्रेंस की जानकारी ही मीडिया से मिली. अब महागठबंधन की प्रेस कॉन्फ्रेंस की जानकारी उनलोगों को क्‍यों नहीं दी गयी यह तो वही बता पाएंगे, जिन लोगों ने इसका आयोजन किया था. हम के नेता दानिश रिजवान ने आगे कहा कि इससे ज़्यादा वह कुछ नहीं बताने की स्तिथि में नही हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *