बिहार के सभी प्रखंडों में खुलेंगे सुधा डेयरी के बूथ, आप भी कर सकते हर महीने लाखों की कमाई, जानें -प्रोसेस

23
Sudha Milk Booth

न्यूज डेस्क: बिहार सरकार ने सूबे में रोजगार के सृजन बढ़ाने के लिए नए-नए तरीके अपनाए हैं, लेकिन इसी बीच सरकार ने रोजगार के साथ साथ व्यापार में बढ़ोतरी के लिए एक नया तकरीव निकाला है। दरअसल, राज्य सरकार ने बिहार के सभी नगर निकाय और सभी प्रखंडों में सुधा डेयरी खोलने का निर्णय लिया। इस संबंध में राज्य सरकार ने सभी जिलाधिकारियों को इसके लिए कुछ महीने पहले ही जमीन उपलब्ध कराने का लेटर जारी किया था, इस लिहाज से देखें तो अगले चार सालों में बिहार में 600 सुधा डेयरी के बूथ खुलेंगे।

यहां जानिए खोलने के लिए क्या है पूरी प्रक्रिया:दरअसल, राज्य सरकार ने राज्य के हर कोने में सुधा के दूध (Sudh Milk)  व अन्य उत्पादों की बिक्री करने के मकसद से बूथों की संख्या बढ़ाने का फैसला किया है, माना जा रहा है कि एक बूथ पर अमूमन पांच या उससे ज्यादा लोगों को रोजगार मिलता है। इस लिहाज से देखा जाए तो तकरीबन 3 से 4 हजार बेरोजगारों को रोजगार मिलने की संभावना है, हर महीना एक बूथ से लाखों की कमाई होती है। इसके जरिए आप खुद का बिजनेस (Business) शुरू कर करते हैं और लाखों रुपए भी कमा सकते हैं।

इन प्रोडक्ट को तैयार कर लाखों रुपए कमा सकते हैं:बता दे की डेयरी बिजनेस की खासियत यह है कि आप पहले दिन से ही अच्छा पैसा कमाना शुरू कर सकते हैं, क्योंकि इसमें दूध, दही, घी, पनीर, आइस क्रीम जैसे एडिबल प्रोडक्ट शामिल हैं, इसके साथ सुधा डेयरी की मिठाई भी मार्केट में आ गई है, जो आज कल बिहार के गांव-देहात में खूब बिकने लगे हैं। खासकर पर्व त्योहार में सुधा दूध की डिमांड बिहार में काफी बढ़ जाती है। एक बूथ बनाने में तकरीबन 5 लाख रुपये खर्च आएंगे।