Patna Metro के दोनों कारिडोर 32.50 किमी होंगे लंबे, 26 स्टेशन से पकड़ी जा सकेगी गाड़ी..

डेस्क : पटना में चल रहे मेट्रो निर्माण कार्य में अब तेजी आएगी. मेट्रो के निर्माण में जुटी एजेंसी दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन के एमडी विकास कुमार ने पटना का दौरा कर यहां मेट्रो रेल परियोजना के काम का जायजा लिया है. उन्होंने पटना मेट्रो रेल कारपोरेशन लिमिटेड के एमडी एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव से मिल कर पटना मेट्रो निर्माण से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर सही से विचार-विमर्श किया. हालांकि इस दौरान दोनों अधिकारियों के बीच विशेष तौर पर जाइका फंड टाई-अप, निजी भूमि अधिग्रहण के साथ ही फंड से संबंधित मुद्दों पर भी चर्चा हुई.

जानकारी के लिए बता दें कि एमडी ने विचार-विमर्श के दौरान भरोसा दिलाया है कि इस साल डिपो की भूमि अविलंब उपलब्ध करा दी जाएगी. जाइका फंड टाई-अप के लिए अध्ययन समूह के साथ नियमित बैठक और विमर्श जारी है. इतना ही नहीं इसको लेकर जाइका के साथ बातचीत अंतिम दौर में है. इस बीच मार्च, 2023 तक ऋण समझौते पर हस्ताक्षर होने की संभावना भी जताई जा रही है. इस बैठक में पटना मेट्रो के भूमिगत खंड के तय समय पर निर्माण किये जाने पर ध्यान केंद्रित करने पर भी जोर दिया गया है.

गौरतलब है कि पटना मेट्रो के निर्माण कार्य के लिए डीएमआरसी के साथ सितंबर 2019 में एमओयू पर हस्ताक्षर किया गया था. पटना मेट्रो के दोनों कारिडोर की कुल लंबाई 32.50 किलोमीटर तय की गई है. बता दें कि इसमें 26 मेट्रो स्टेशन बनाए जाएंगे जिसमें 13 एलिवेटेड और 13 अंडरग्राउंड रखे जाने का प्रस्ताव है. ज्ञात हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 17 फरवरी, 2019 को पटना मेट्रो परियोजना की आधारशिला रखी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *