BPSC Topper : पूनम भारती ने शादी और बच्चे होने के 7 साल बाद पास की परीक्षा

Poonma bharti revenue officer BPSC Topper

डेस्क : हिन्दुस्तान की महिला क्या नहीं कर सकती ? आज हम जानेंगे की किस तरह से पूनम घर चलाने से लेकर सिविल सेवा परीक्षा में हुई सफल? पूनम ने पूरी लगन और मेहनत के साथ पढ़ाई की और अपने पूरे परिवार को संभाला।

पूनम ने अपना एक निजी टेबल बना रखा है जिसपे वह पढाई करती हैं उस टेबल के दाहिने तरफ अपने बेटे की तस्वीर लगा रखी है, क्यूंकि उनका बेटा ही उनकी प्रेरणा का स्त्रोत है। उनका बेटा हमेशा ही उनको बोलता है की मम्मी आपको अफसर बनकर दिखाना है। पूनम की टेबल पर अनेकों किताबें पड़ी हैं जो उनको अलग अलग विषयों से जोड़ती हैं।

वह बताती हैं की मैं लिखने में इतनी अच्छी नहीं हूँ, लेकिन काम चलाऊ लिखावट कर लेती हूँ। पूनम भारती बताती हैं की उन्होंने अपनी सारी पढ़ाई पटना से की है यहां तक की ग्रेजुएशन पटना वीमेन कॉलेज से किया है। पूनम भारती का कहना है की उनकी शादी कॉलेज में ही हो गई थी इसके बाद परिवार और बच्चों की जिममेदारी भी कन्धों पर आ गई थी।

पूनम भारती बताती है की वह 2007 से तैयारी कर रहीं हैं और यह उनका पांचवा एटेम्पट था। पूनम बताती हैं की जब शुरूआती समय में मैंने तैयारी करना चाहा तो कुछ समझ में नहीं आया और किसी की गाइडेंस नहीं मिली, जो जैसा मटेरियल मिला बस उसको पढ़ना शुरू कर देती थी। पहले यूट्यूब और ऑनलाइन स्टडी मटेरियल जैसा कुछ नहीं था और काफी परेशानी होती थी लेकिन अब काफी कुछ आसान हो गया है।

पूनम भारती 5 बार इस परीक्षा में फेल हुई हैं। इसके बाद फिर अंदर से आता था की नहीं मुझे सेल्फ इंडिपेंडेंट होना है जिसके चलते मैं पढ़ती चली गई और देश की सेवा का भी जूनून सर पर सवार हो गया था। इस वक्त पूनम काफी लड़कियों की प्रेरणा का स्त्रोत बनी हुई है। वह कहती है की जमाने में बदलाव आया है और आजकल माँ बाप इतना जल्दी शादी नहीं करते लेकिन कुछ लोग ऐसे हैं जो अपने बच्चों की शादी जल्दी कर देते हैं ऐसे में वह लडकियां जिस भी स्थति में हैं वहीँ से अपनी तैयारी शुरू कर सकती हैं।

जब पूनम से पुछा गया की वह 7 साल बाद कैसे अपनी पढ़ाई शुरू कर पाईं तो उन्होंने बताया की मैंने 0 से पढ़ना शुरू किया। रोजाना मैं घर के काम पूरा करके पढाई करती थी। सुबह 5 बजे उठकर रात को 1 बजे सोने तक मुझे सब पढ़ना होता था। प्रीलिम्स के लिया मैंने मोक टेस्ट और ज्यादा से ज्यादा सवाल सोल्व किए वहीँ मैन्स के लिए खुद के नोट्स बनाए।

पूनम बताती हैं की हर बार मेरा मैन्स का परीक्षा 5-6 नंबर से रह जाता था। इंटरव्यू के लिए मैंने कोचिंग ली जिससे मेरा कॉन्फिडेंस बढ़ गया और मॉक इंटरव्यू भी दिया। पूनम कहती है की मैं रट्टा लगाने में विश्वास नहीं करती और रिविज़न करना बहुत जरूरी है। पूनम का मानना है की बिहार में लड़कियों की जल्द से जल्द शादी कर दी जाती है। यह एक समस्या जो आने वाले समय के साथ ख़त्म हो जाएगी। इसलिए हर लड़की को किसी भी पड़ाव में रहते हुए जो भी कार्य करना हो शुरू कर देना चाहिए क्यूंकि कभी अच्छा वक्त नहीं आता, आप जहा हैं वही सब अच्छा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

UPSC टॉपर शुभम की कहानी, 6 साल की उम्र में घर छोड़ा, 12वीं में देखा था IAS बनने का सपना मिलिए जागृति से,जानिए कैसे बनीं वो UPSC के महिला वर्ग में देशभर की टॉपर Divya Aggarwal ने जीता BigBossOTT-जानें ट्रॉफी के साथ कितना मिला कैश ? Jio अब बजट रेंज में लॉन्च करेगा लैपटॉप, ये होंगे कीमत और Features Airtel vs Vi vs Jio : जानें 600 रुपये से कम वाला किसका रिचार्ज प्‍लान सबसे बेस्‍ट