बचपन में चराती थी भैंस, आज बन गई IAS अधिकारी – जानें कैसे किया खेत से सरकारी दफ्तर तक का सफर

C VANMATI Kerala IAS officer

डेस्क : भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक परीक्षा मानी जाती है सिविल सेवा की परीक्षा। हर साल यूपीएससी द्वारा सिविल सेवा परीक्षा का आयोजन होता है। ऐसे में लाखों अभियार्थी, इस परीक्षा में बैठते हैं। लेकिन, मात्र हजार अभियार्थी ही ऐसे दिग्गज और होनहार होते हैं। जो अभियार्थी सिविल सेवा में चयनित होते हैं वह सच में अलग होते हैं, बता दें की यूपीएससी की प्रणाली बेहद ही सख्त है।

इस सख्त प्रणाली के तहत कोई भी ऐरा गैर-ऐरा नौकरी नहीं ले सकता है। इसके लिए एक अच्छी रणनीति के साथ तैयारी करनी होती है और दिन-रात भूल जाना होता है। तब जाकर कुछ गिने चुने लोगों का चयन होता है। कई लोग 5-6 साल से तैयारी ही करते रह जाते हैं लेकिन वह यूपीएससी की परीक्षा कभी क्वालीफाई नहीं कर पाते हैं।

आज हम बात करने वाले हैं एक ऐसी ही आईएएस अधिकारी के बारे में जिसने अपने बचपन में भैंसे चराई थी। बता दें कि युवती का नाम सी वनमति है। सी वनमति के घर की हालत बेहद ही ज्यादा खराब थी और आर्थिक स्थिति अच्छी ना होने का कारण उसको अक्सर ही पशुपालन विभाग में हाथ बटाना पड़ता था। जिसके चलते वह बचपन में खूब गाय और भैंस के साथ रही हैं। सी वनमति केरला से हैं और वह एक साधारण परिवार से है। बचपन से ही वह सभी घरेलू कार्य करने में आगे रहती थी। अगर बात पढ़ाई की हो तो उसमें भी वह अव्वल रहती थी, लेकिन वह अक्सर ही सोचती थी कि क्या पढ़ाई करने से घर की स्थिति बदली जा सकती है।

जब उन्होंने अपनी बारहँवी कक्षा पास कर ली तो उनके ऊपर शादी का दबाव आने लगा। लेकिन, उसी दौरान उन्होंने टीवी में एक सीरियल देखा जिसमें एक हीरोइन आईएस ऑफिसर बन जाती है उस सीरियल का नाम था गंगा यमुना सरस्वती। उसके बाद जीवन में वनमति ने फैसला लिया कि वह एक आईएएस अधिकारी बनेगी और अपने हालात बदलेगी। बता दें कि जीवन में जब इंटरव्यू था तो उनके पिताजी अस्पताल में एडमिट थे उन्होंने अपने पिताजी की भी देखभाल की और अपना इंटरव्यू भी दिया। ऐसे में उन्होंने इस परीक्षा को दूसरी बार में क्लियर किया था। पहली बार में उनको असफलता मिली थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *