डेस्क : बिहार के मुजफ्फरपुर में वन हेल्थ क्लब का उद्घाटन एसकेएमसीएच में किया गया है। उद्घाटन में इस बात की घोषणा भी की गई कि वर्ष 2024 के जून तक अर्थात पूरे दो वर्षों के बाद एसकेएमसीएच में 250 बेड का कैंसर हॉस्पिटल में बनकर तैयार हो जाएगा जो कि करीब 300 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हो रहा है। इस दिशा में काफी तेजी से कार्य किया जा रहा है।

इस अस्पताल की खुलने के बाद आयुष्मान भारत कार्ड रखने वाले मरीजों को काफी ज्यादा फायदा होगा। उनकी इलाज कि संभवत यहाँ ज्यादा से ज्यादा सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके साथ ही साथ वन लैब की शुरूआत हो जाने के बाद मरीजों को इलाज वास्ते बाहर जाने की जरूरत भी नहीं होगी। यहां पर सारे के सारे टेस्ट की व्यवस्था करवाई जाएंगी जो कि छोटी से लेकर बड़ी बीमारियों तक के लिए होगी।

प्रसव से पहले ही जांच करके बच्चे की हर तरह की बीमारी का पता लगाया जा सकेगा : वन हेल्थ क्लब की शुरुआत करने के लिए एक निजी दवा कंपनी ने 100 करोड़ रुपए दिए हैं। साथ ही साथ डॉक्टर्स फॉर यू नाम की एक संस्था ने 10 करोड़ का सहयोग दिया है। इस वन लाइफ लैब में पैथोलॉजी लैब, माइक्रोबायोलॉजी लैब और कैंसर जिनोम सीक्वेंसिंग का भी काम होगा। भाभा कैंसर अस्पताल व अनुसंधान केंद्र के सौजन्य से इस शुरू हुए इस वन हेल्थ लैब में जिनोम सिक्वेंस की मदद से प्रसव से पहले यह बच्चे की जांच की जा सकेगी और पता लगाया जा सकेगा कि बच्चे में किसी तरह की कोई गंभीर बीमारी के या असाधारण बीमारी के लक्षण मौजूद हैं या नहीं।

कैंसर से संबंधित टेस्ट भी किए जाएंगे : कैंसर का पता करने के लिए अभी एम आर आई, बायोप्सी, सीटी स्कैन जैसे टेस्ट किए जाते हैं। अभी यहीं कुछ अन्य टेस्ट भी करके इसे और आसान तरीके से पता करने की कोशिश की जाएगी। इस लैब में जानवरों में होने वाली बीमारियों का मनुष्य पर क्या प्रभाव होगा और कैसा होगा तथा इससे बचाव के तरीके इन सभी चीजों पर भी शोध कार्य किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *