बिहार में ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की प्रक्रिया में किया गया बदलाव – अब MVI के आगे नहीं देना होगा टेस्ट

Driving license form online

डेस्क : ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए अब लोगों को ऑनलाइन ही अप्लाई करना होता है, बता दें कि ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए पहले लोगों को लंबी कतारों में खड़ा होना पड़ता था एवं दलालों से संपर्क करना पड़ता था। इस चक्कर में किसी को लाइसेंस मिलता था और किसी को नहीं मिलता था। सरकारी बाबुओं की ज्यादातर मौज होती थी क्योंकि वह समय रहते दफ्तर नहीं पहुंचते थे और समय पर अपनी तनख्वाह भी उठाते थे। लेकिन, अब सारी चीजें ऑनलाइन की गई है तो इससे ड्राइविंग लाइसेंस की प्रक्रिया में काफी सुधार आया है।

देश के कई राज्यों में क्या प्रक्रिया ऑनलाइन ही चल रही है। सरकारी व्यवस्था को ऑनलाइन प्रक्रिया से जोड़ने के लिए डिजिटल इंडिया को लाया गया है। लाइसेंस के लिए जो प्रमाण पत्र लगता है वह ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल से ही मिलता है। कुछ समय पहले परिवहन सचिव यानी कि ट्रांसपोर्ट सेक्रेटरी संजय कुमार अग्रवाल ने विभाग के सभी आला अधिकारियों से बातचीत की और ड्राइविंग लाइसेंस की प्रक्रिया किस प्रकार चल रही है उसका जायजा लिया। उन्होंने बताया कि एम वी आई के लिए किसी भी प्रकार का लिखित टेस्ट नहीं लिया जाएगा। सीधा ट्रेनिंग स्कूल में आए और फिजिकल टेस्ट दें इसके बाद लाइसेंस को ऑनलाइन निकलवा लें। बता दें कि अब बिहार में 60 से ऊपर ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल होने वाले हैं।

अब प्रक्रिया कुछ इस प्रकार हो गई है कि सबसे पहले ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आवेदन देना होता है। उसके बाद लर्निंग लाइसेंस आपको ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल में जाकर टेस्ट देने के बाद ही मिलता है। अगर आप मोटरसाइकिल चलाने का लाइसेंस प्राप्त करना चाहते हैं तो उसमें आपको 8 बना कर दिखाना होगा और अगर गाड़ी का लाइसेंस बनाना चाहते हैं तो आगे पीछे रिवर्स गियर का सही इस्तेमाल कैसे किया जाता है वह देखा जाता है। ज्यादातर ट्रेनिंग स्कूल में वह लोग पहुंच रहे हैं जिनको 80 फीसदी गाड़ी चलानी नहीं आती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *