अच्छी खबर! Bihar के सभी मेडिकल कॉलेजों में मिलेगा सस्ता भोजन, सरकार कर रही यह काम

डेस्क : जीविका समूह के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी (CEO) राहुल कुमार के अनुसार स्वास्थ्य विभाग व जीविका समूह के बीच समझौता पत्र पर हस्ताक्षर होगा। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के साथ भी समन्वय स्थापित किया जा रहा है। जल्द ही इस दिशा में कार्रवाई की जाएगी। अगले तीन माह में सभी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में दीदी की रसोई का संचालन भी शुरू किया जाएगा। बताया कि दीदी की रसोई के संचालन को लेकर बिजनेस का प्लान तैयार कर लिया गया है, अलग-अलग मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में मानव संसाधन (Man power) की आवश्यकता, पूंजी के investment इत्यादि का आकलन करने के बाद ही इसे क्रियान्वित किया जाएगा।

मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में भोजन की थाली का दर तय होगी : सूत्रों ने बताया कि मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में मरीजों, उनके परिजनों व कर्मियों की असल स्थिति का आकलन करने के बाद ही भोजन की थाली का दर भी तय कर लिया जाएगा। अस्पताल प्रशासन व जीविका समूह दोनों ने मिलकर दर का निर्धारण भी करेंगे। वर्तमान में जिला अस्पतालों व अनुमंडलीय अस्पतालों में संचालित दीदी की रसोई में प्रति व्यक्ति 150 रुपये की दर से राशि ली जाती है। जबकि जल्द ही में मानसिक आरोग्यशाला, कोईलवर के लिए किए गए समझौते के तहत 157.03 रुपये प्रति व्यक्ति की दर से भोजन उपलब्ध कराने का निर्णय भी लिया गया है।

मेडिकल कॉलेज व अस्पतालों में दीदी की रसोई के अलावा अन्य कोई भी कैंटीन खोलने की अनुमति नहीं होगी। PMCH में फिलहाल प्रति मरीज भोजन के लिए सौ रुपए की राशि भी दी जाती है। सूत्रों ने बताया कि राज्य के 51 जिला व अनुमंडलीय अस्पतालों में दीदी की रसोई का संचालन भी किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के दिशा-निर्देशों पर राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में भी इसके विस्तारित किए जाने की लेकर तैयारी की जा रही है। दीदी की रसोई के माध्यम से ही मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में मरीजों, उनके परिजनों व अस्पताल कर्मियों को भोजन की भी सुविधा दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *