सीएम नितीश हुए हैरान बोले हमारे समय में इतना वक्त नहीं लगता था, बीजेपी ने दिया ये जवाब

डेस्क : बिहार में मंत्रिमंडल विस्तार पर इस वक्त कोई हलचल देखने को नहीं मिल रही है। आपको बता दें कि मीडिया कर्मियों ने हाल ही में नीतीश कुमार से यह सवाल पूछा कि क्या मंत्रिमंडल विस्तार इस बार बिहार में होगा ? तो, इस पर नीतीश कुमार ने कहा कि हम भारतीय जनता पार्टी के नेताओं से हर मसले पर बात कर रहे हैं और यह बात बिल्कुल सहज एवं सामान्य तरीके से चल रही है।

लेकिन, अभी तक मंत्रिमंडल के विस्तार पर किसी भी तरह से राजनीतिक बात शुरू नहीं हुई है। ऐसे में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दो टूक में यह बात साफ कर दी कि जब तक दूसरे नेताओं का समर्थन नहीं मिलेगा तब तक मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं होगा। भारतीय जनता पार्टी की रिपोर्ट आना बेहद ही जरूरी है जिसके बाद यह तय किया जाएगा कि मंत्रिमंडल विस्तार होगा या नहीं।

हाल ही में बीते गुरुवार को पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं बिहार के प्रभारी भूपेंद्र यादव के साथ भारतीय जनता पार्टी प्रदेश प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल की मुलाकात हुई थी। इस दौरान इन नेताओं ने इस बात पर जोर दिया कि जल्द ही वह मंत्रिमंडल के विस्तार पर मुख्यमंत्री से बात करेंगे। बता दें कि यह पहली बार है जब इतना वक्त लग रहा है। हालांकि, नीतीश कुमार के वक्त कभी भी इतना समय नहीं लगा था। मंत्रिमंडल में 36 मंत्रियों की जरूरत है लेकिन इस वक्त सिर्फ 14 मंत्री मौजूद है। यह स्थान पिछले 3 महीने से खाली है।

जब बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के नतीजे घोषित हो गए थे और एनडीए की सरकार बन गई थी तो मंत्री पद शपथ ग्रहण में 15 मंत्रियों ने शपथ ली थी जिससे सब को यह अंदाजा लग गया था कि जनवरी तक मंत्रिमंडल का विस्तार हो जाएगा। लेकिन, अभी तक यह तय नहीं हो पाया है। इस कारण नीतीश कुमार काफी खफा है। कई मंत्रियों की ना मौजूदगी बताती है कि सरकार में अभी भी नेताओं के बीच बातचीत ठीक तरह से नहीं हो रही है जब इस पर प्रश्न किया गया तो नितीश कुमार ने साफ बताया कि हम लोग शुरू से ही बिहार के आर्थिक एवं जनहित के लक्ष्य पूरे करने में लगे हुए हैं। आखरी में उन्होंने बात खत्म करते हुए कहा कि बिहार में नल जल से खेत की सिंचाई का कार्य शुरू होने वाला है जिसके लिए हमने सर्वेक्षण पूरा कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.