लोकडाउन से बढ़ी इन राज्यों की चिंता, कहीं सब कुछ बंद तो कहीं सिर्फ नाईट कर्फ्यू से चल रहा काम

डेस्क : साल 2021 से भारत के लोगों को कई उम्मीदें हैं। बता दें कि भारत के लोगों का जीवन बहुत ही सुविधा पूर्ण स्थिति में बीता है। जब 2020 चल रहा था तो उस वक्त कोरोना महामारी के चलते पूरा साल बेकार हो गया। बता दें कि जैसे-जैसे समय आगे बढ़ता गया वैसे-वैसे कोरोना के मामले घटते गए और लोगों की जिंदगी में परिवर्तन आता गया। अब 2021 के मध्य मार्च में फिर से यह खबरें आने लगी है कि भारत के कई राज्यों में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं।

ऐसे में भारत के कई राज्यों में कोरोना के मामले फिर से बढ़ रहे हैं और इन राज्यों में सबसे पहले नाम आता है महाराष्ट्र का इसके बाद पंजाब, गुजरात, कर्नाटक और तमिलनाडु शामिल है। हाल ही में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आनन-फानन में राज्यों के मुख्यमंत्रियों की वर्चुअल बैठक की थी। फिलहाल इस बैठक का कोई परिणाम नहीं निकला है। लेकिन, कई राज्यों में इस वक्त लोखड़ाऊन की स्थिति है और कई राज्यों में लोकडाउन लग चुका है बता दें कि आज से अहमदाबाद के सभी पार्क अगले आदेश तक बंद किए गए हैं।

वहीँ नाइट कर्फ्यू का इस्तेमाल पंजाब ने किया है और रात 9:00 बजे से सुबह 5:00 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगा दिया है। वहीं दूसरी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंता व्यक्त की है। बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कोरोना के बढ़ते मामलों पर संज्ञान लिया है और पंजाब के प्रचलित जिले होशियारपुर, कपूरथला, रोपड़, अमृतसर, मोहाली, पटियाला, जालंधर, लुधियाना में नाइट कर्फ्यू की घोषणा की है। बता दें कि उन सभी जिलों में रोजाना 100 से ऊपर कोरोना के मामले आ रहे हैं। जो भी व्यक्ति अगर नियमों का उल्लंघन करता पाया जाएगा तो उसको कानून के मुताबिक सजा दी जाएगी। ऐसे में कोरोना की गाइडलाइन भी जारी की गई है।

बता दें कि अब तक कुल ₹20000 के करीब जुर्माना वसूला गया है यह जुर्माना उन लोगों से वसूला गया है जो कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे थे। बता दें कि पिछली बार की तरह अब दोबारा से ₹2000 का चालान काटना शुरू हो गया है और जो मास्क नहीं पहन रहा है उसके ऊपर सख्त कार्यवाही का आदेश है। वही चालान काटने के बाद मास्क भी दिया जा रहा है। बता दें कि गुजरात की राजधानी अहमदाबाद में भी मामले दिन पर दिन उभर रहे हैं और गुजरात सरकार ने अहमदाबाद में चलने वाली बसों पर प्रतिबंध लगा दिया है, उनका साफ कहना है कि कोरोना के मामलों में वृद्धि हो रही है जिसको लेकर कोई भी लापरवाही नहीं बरती जा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.