कोरोना की वाइल्ड कार्ड एंट्री से कई राज्य प्रभावित, बिगड़ते हालात के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने बुलाई बैठक

डेस्क : ऐसा प्रतीत हो रहा है कि कोरोना फिर से वापस आ रहा है, भारत खासकर उन देशों में से एक है जहां पर कोरोना से एक बड़ी जनसंख्या प्रभावित हुई है बता दें कि मार्च का ही यह महीना था जब कोरोना काफी तेजी से बढ़ रहा था। लेकिन, अब इस बात को 1 साल हो गया है और अब 1 साल पूरा होते ही कोरोना के मामले में फिर से तेजी आई है। ऐसे में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाई है। अब इस बैठक का क्या निष्कर्ष निकलता है वह देखना बाकी है। लेकिन, लोगों का अनुमान यही है कि यह बैठक कोरोना के मामलों में आए उछाल को लेकर है।

इस बैठक को 17 मार्च 2021 को आयोजित किया जाएगा और कई राज्यों में इस वक्त नाइट कर्फ्यू लग चुका है। कई राज्यों में कर्फ्यू लगाने की आशंका जताई जा रही है। बता दें कि एक समय पर कोरोना वायरस के चलते इतनी पाबंदी लगाई गई थी कि आम आदमी परेशान हो गया था। उसको समझ ही नहीं आ रहा था कि आगे की जिंदगी कैसे चलेगी कुछ इसी तरह की पाबंदी महाराष्ट्र में लगा दी गई है जहां पर रेस्टोरेंट स्वास्थ्य और सिनेमा हॉल को छोड़कर सभी ऑफिस में आधे प्रतिशत लोगों के काम करने की अनुमति दी है। बिना मास्क के कहीं भी आना जाना उचित नहीं होगा। अंतिम संस्कार जैसी क्रियाओं में भी 20 से ज्यादा लोग शामिल नहीं होंगे। विवाह समारोह के लिए 50 लोगों की अनुमति दी गई है।

नागपुर में इतने ज्यादा मामले बढ़ गए हैं कि पूरी तरह से लॉकडाउन लगा दिया गया है। उसके बाद पंजाब में भी नाइट कर्फ्यू जारी है जहां पर फतेहगढ़ साहिब, जालंधर, मोहाली, पटियाला, लुधियाना, नवांशहर, होशियारपुर शामिल है साथ ही स्कूल विभाग ने घोषणा की है कि वह जल्द ही छुट्टियों की तैयारियां करने वाला है। देश के बिल्कुल बीचो बीच पड़ने वाले राज्य मध्यप्रदेश में भी सरकार लोकडाउन लगाने पर सरकार विचार कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.