ऑयल इंडिया लिमिटेड पर साइबर हमला, मांगी 57 करोड़ रुपये की फिरौती : जाने पूरा मामला

8
Oil India Limited

भारत की सार्वजनिक क्षेत्र की ऑयल इंडिया लिमिटेड साइबर हमले की चपेट में आ गई है और हैकर्स ने 75 लाख अमेरिकी डॉलर की फिरौती की मांग की है। भारतीय मुद्रा में यह राशि रु. 57 करोड़।एक रैंसमवेयर वायरस ने असम में ऑयल इंडिया के मुख्यालय पर साइबर हमला किया है।

साइबर अटैक से हैकरों ने कंपनी के आईटी सिस्टम और कंप्यूटर को हैक कर लिया रु. 57 करोड़ रुपये की फिरौती मांगी गई है। साइबर क्रिमिनल्स ने इस रकम को बिटकॉइन में चुकाने की शर्त रखी है।कंपनी ने कहा कि हमला 10 अप्रैल, 2022 को भूवैज्ञानिक और जलाशय विभाग में हुआ था, लेकिन आईटी विभाग ने मंगलवार को इसकी सूचना दी।

हैकर्स ने कंपनी के नेटवर्क, सर्वर और क्लाइंट कंप्यूटर को भी नुकसान पहुंचाया।इसे दोबारा पूरी तरह ठीक किया जा रहा है. इस मामले में असम के दुलियाजान पुलिस स्‍टेशन पर शिकायत की गई है और पुलिस इसकी जांच भी कर रही है.

कंपनी के प्रबंधक (सुरक्षा) कुमार ने कहा कि ऑयल इंडिया द्वारा असम के दुलियाजान पुलिस स्टेशन में साइबर हमले का आरोप लगाने के बाद शिकायत दर्ज कराने के बाद भारतीय दंड संहिता और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम-2000 की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। आईटी सिस्टम पर साइबर हमले से भारी नुकसान हो रहा है और इसे फिर से शुरू होने में लंबा समय लगेगा।कंपनी के एक प्रवक्ता ने कहा कि साइबर हमले के बाद भी ड्रिलिंग और उत्पादन संचालन सुचारू रूप से चल रहा था, लेकिन आईटी सिस्टम से संबंधित संचालन प्रभावित हुए, जिसमें लेनदेन और डेटा संग्रह जैसे महत्वपूर्ण संचालन शामिल थे।