बेटी ने दफन की मां की लाश, अंतिम संस्कार के लिए नहीं थे पैसे, पिता की चार दिन पहले हुई थी मौत

Parents dead due to corona

डेस्क : कोरोना की वजह हर तरफ कोहराम मचा हुआ है। आए दिन दिल दहला देने वाली तस्वीरें आ रही है, ताजा मामला बिहार के अररिया जिले के रानीगंज प्रखंड के बिशनपुर पंचायत के मझुलता गांव की है जहां कोरोना संक्रमित दंपति की मृत्यु हो गई। दंपति की मृत्यु में मात्र 4 दिन का अंतराल है। पहले पति की मृत्यु हुई उसके बाद पत्नी की। उनके तीनों बच्चों ने उनका अंतिम संस्कार किया। दंपति की 2 बेटियाँ और एक बेटा है।

दंपति के तीन छोटे बच्चे हैं लेकिन अब दंपति इस दुनिया में नहीं रहा। बता दें कि पहले पति की मृत्यु हुई, जिसके बाद पत्नी का इलाज अस्पताल में चल रहा था अस्पताल में इलाज करवाने के लिए परिजनों के पास पर्याप्त पैसे नहीं थे जिसके बाद अस्पताल ने कहा कि आप इनको घर ले जाओ। घर लाने के बाद पत्नी की तबियत खराब हो गई । औरत की हालत खराब हुई तो उसको मुखिया की मदद से फिर बिशनगंज अस्पताल ले जाया गया। बिशनगंज के डॉक्टरों ने औरत को मधेपुरा रेफर कर दिया जब औरत को मधेपुरा ले जाया जा रहा था तो उसकी रास्ते में ही जान चली गई।

बता दे की औरत की तबियत तब ज्यादा खराब हो गई जब उसको यह पता लगा कि उसका पति अब इस दुनिया में नहीं रहा है। इस गांव में अब आधा दर्जन से ज्यादा लोगों को कोरोना संक्रमण है और गांव में काफी कोहराम मचा हुआ है। इसके चलते आसपास के लोग डरे हुए हैं। बता दे की रानीगंज का बिशनपुर गाँव इस बार कोरोना का पिक सेंटर बना हुआ है, जहां पर काफी लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। ऐसे में फिलहाल 2 लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है। कई लोगों में इस वक्त खासी, बुखार और सर्दी के लक्षण हैं जिसके चलते समय समय पर रानीगंज रेफरल अस्पताल से स्वास्थ्य कर्मी आते हैं और लोगों की जांच करके जाते हैं। अभी तक पूरे गांव में ना ही मास्क बांटा गया है और न ही सैनिटाइजर। लोगों की क्या स्थिति है इसका संज्ञान लेने भी फिलहाल कोई नहीं पहुंचा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *