भारत समेत 85 देशों में आया डेल्टा+ वेरिएंट – दक्षिण अफ्रीका में मौत की गिनती शुरू

corona in africa

डेस्क : कोरोना की दूसरी लहर अभी ख़तम नहीं हुई है, बता दें कि भारत के कई राज्यों में डेल्टा वैरिएंट की वजह से मौत लगातार हो रहीं है। ऐसे में वैज्ञानिकों का कहना है कि आने वाले समय में भारत को तीसरी लहर का सामना करना पड़ सकता है। वैज्ञानिकों ने कि तीसरी लहर की वजह डेल्टा प्लस वेरिएंट होगी। डेल्टा प्लस वेरिएंट ने अफ्रीका के कई इलाकों में अपना कहर बरसाना शुरू कर दिया है।

इस वक्त पूरी दुनिया में 85 देश ऐसे हैं जिनमें कोरोना का नया वैरिएंट मिला है। विशेषज्ञों की मानें तो कोरोनावायरस का यह वेरिएंट अपने आप को समय-समय पर बदलता रहता है। विट्स यूनिवर्सिटी के निदेशक शब्बीर माधी ने बताया कि डेल्टा प्लस वायरस का कहर तेजी से विभिन्न देशों में बढ़ रहा है। ऐसे में जल्द ही विट्स यूनिवर्सिटी अपनी ओर से प्लस वैरीअंट पर रिपोर्ट जारी करेंगे। बीते वक्त डेल्टा वेरिएंट की वजह से ट्रांसमिशन तेज हुआ है। बता दें कि यह पुराने वायरस से 60% तेज संक्रामक है।

इस वक्त साउथ अफ्रीका में हालात बेहद खराब हो गए हैं, बता दे की अफ्रीका में मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है और बेड की कमी हो गई है। ऐसे में दाह संस्कार के लिए भी समुदाय और संगठन कम पड़ गए हैं। विट्स यूनिवर्सिटी के निदेशक शब्बीर माधि ने कहा है कि जिन लोगों को पहले कोरोना हो चुका है उनमें संभावना ज्यादा है कि वह दोबारा से कोरोना ग्रसित हो जाए।

साउथ-अफ्रीका के गौतेंग प्रांत में डेल्टा+ के 18000 से ऊपर मामले देखे गए हैं। अफ्रीका में 200 से ज्यादा मौतें हो चुकी है। माधि ने बताया कि तीसरी लहर पिछली लहरों से ज्यादा खतरनाक है। कोरोनावायरस का नया वेरिएंट सबसे पहले भारत में पाया गया था। यह जानकारी डब्ल्यूएचओ ने दी है, WHO ने साफ़ कहा है कि यह वायरस उन लोगों में तेजी से फैल रहा है, जिन्होंने टीका नहीं करवाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *