DM हो तो ऐसा! ट्रांसफर होने पर नही ली विदाई, सीधा बैग उठाया व लाइन में टिकट लेकर ट्रेन से निकल पड़े..

डेस्क: हाल ही में बिहार सरकार द्वारा प्रशासनिक फेरबदल में बड़ा बदलाव किया गया, जिसमें सूबे के कई अधिकारियों को इधर से उधर कर दिया गया, खासकर विभिन्न जिला अधिकारियों को अलग-अलग विभागों का जिम्मा सौंपा गया है, जिसमें नालंदा समेत कुल 6 जिलों के जिलाधिकारियों का ट्रांसफर किया गया है. सुपौल, गया, समस्तीपुर, सहरसा,और दरभंगा में अब नये डीएम की तैनाती की गयी है।

इसी क्रम में नालंदा के डीएम योगेंद्र सिंह की जो सादगी सामने आई है, उसे देखकर हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है, और इस वक्त सोशल मीडिया पर सुर्खियों में है, हुआ यूं कि जब उनका ट्रांसफर दूसरे जिला में कर दिया गया तो उन्होंने बिना तामझाम के अपने पदस्थापित जिला नालंदा से ट्रेन पकड़ कर दूसरे जिला निकल पड़े,

आपको बता दें कि जिला अधिकारी योगेंद्र सिंह ने फेयरवेल पार्टी को भी शालीनता से मना कर दिया। हाथ में ट्राली बैग व बाडीगार्ड को नए डीएम के साथ रहने की नसीहत देकर स्टेशन रवाना हो गए। आम पब्लिक की तरह लाइन में लगकर ट्रेन का टिकट लिया। श्रमजीवी में बैठकर पटना के लिए रवाना हो गए। 

योगेंद्र सिंह मूल रूप से उत्तर प्रदेश के उन्नांव जिले के रहने वाले है, और नालंदा में 35 महीनों तक जिलाधिकारी रहे। योगेंद्र की पहचान तेजतर्रार अफसरों में की जाती रही। अपने कार्यकाल के दौरान उनके कई फैसले चर्चा में रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published.