बिहार बनेगा एथेनॉल का हब! 1077 करोड़ के 48 निवेश प्रस्तावों को मंजूरी, जानें – कहां लगेंगे प्लांट..

डेस्क : बिहार इन्वेस्टमेंट प्रोत्साहन पर्षद की बैठक में जिन 48 प्रस्तावों को प्रथम फेज की सहमति दी गई, उनमें मुजफ्फरपुर और गोपालगंज में इथेनॉल प्रोजेक्ट भी शामिल हैं. कुल 1077 करोड़ के कुल 48 निवेश प्रस्तावों को इस बैठक में मंजूरी दे दी गयी है. विकास आयुक्त की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में लंबे अंतराल के बाद से उद्योग विभाग के प्रधान सचिव और उद्योग निदेशक भी मौजूद रहे.यह माना जा रहा है कि इथेनॉल बिहार के औद्योगिक सेक्टर की सूरत बदल सकता है. यहां न सिर्फ भारी भरकम निवेश की संभावना है, बल्कि यह सेक्टर हजारों लोगों को प्रत्यक्ष रूप से रोजगार देने वाला भी होगा.

दरभंगा जिले में 70 बेड का अस्पताल बनेगा : इस पर्षद की बैठक में जिन 48 प्रस्तावों को प्रथम स्टेज की सहमति दी गई, उनमें मुजफ्फरपुर में अनाज आधारित प्रोजेक्ट में कुल 141.60 करोड़, जबकि गोपालगंज में कुल 136 करोड़ का निवेश होगा. बियाडा मुजफ्फरपुर में कुल 85 करोड़ से बिस्किट फैक्ट्री, 74 करोड़ की लागत से न्यूट्रिशन पाउडर और कुल 87 करोड़ की लागत से टोमैटो कैचअप कारखाना भी लगाने के प्रस्ताव को हरी झंडी मिली. इसके अलावा कुल 12 करोड़ की लागत से दरभंगा में 70 बेड का अस्पताल भी स्थापित होगा.

गया और भागलपुर में बनेंगे होटल्स : इसी तर्ज पर गया में 12 करोड़ और भागलपुर में 7.78 करोड़ की लागत से बनने वाले होटल को भी मंजूरी दे दी गयी हैं. स्वीकृत योजनाओं में समस्तीपुर में कुल 5 करोड़ और सीतामढ़ी में 3.19 करोड़ की मखान प्रोसेसिंग यूनिट भी इस प्रस्ताव में शामिल हुई है. पर्षद ने चावल मिल, पेट्रोलियम कोक, सर्जिकल बैंडेज, PVC पाइप, आटा-चावल की मिल, इलेक्ट्रिक रेसिस्टेंस वेल्डेड ट्यूब्स, मखान, वोवेन फैब्रिक सिरप-टैबलेट, नूडल्स, बिस्कुट, ब्रेड- कूकिज- केक-पेस्ट्री- रस्क ब्रेड-बन्स की फैक्ट्री प्रस्तावों को भी सहमति दी. स्नैक्स, सरसों तेल, प्लास्टर ऑफ पेरिस, साल्टेड नमकीन, जूट का बैग, स्वीट्स-नमकीन, नोटबुक, यूरिन बैग, वर्मिसेल के प्रस्ताव भी मंजूर हुए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *