गंदे से गंदा टॉयलेट हो जाएगा चंद मिनटों में साफ़, ऐसे करना होगा बेकिंग सोडा के साथ सिरके का इस्तेमाल

10
Bad Toilet seat

डेस्क : सफाई हमारे जीवन के लिए कितनी ज़रूरी है ये बात तो हम सभी ने कोरोना काल के दौरान समझ ही ली, जब भी हम साफ़ सफाई की बात करते हैं तो सबसे पहले हम सब का ध्यान टॉयलेट पर जाता है। टॉयलेट की सफाई तो लोग लगभग एक दिन छोड़ के सभी करते हैं लेकिन गन्दगी फिर भी जमा रह ही जाती है।

उसका कारण है बाजार में बिक रहे केमिकल युक्त टॉयलेट क्लीनर लेकिन आज हम आपको ऐसा तरीका बताने जा रहें जिससे आप का टॉयलेट शीशे की तरह चमकेगा। उसका एक बहुत ही सरल तरीका है,जिसमें आपको रोज प्रयोग में आने वाले दो रसायनों का इस्तेमाल करना है जिससे आपका टॉयलेट पहलू से ज्यादा साफ़ और चमकदार दिखने लगेगा। कौन है वो जादुई रसायन जो करदेंगे आपकी टॉयलेट सीट को नए जैसा? सोडा और घर में इस्तेमाल हगोने वाला सिरका,इन दोनों केमिकल्स को हम क्लीनिंग एजेंट के नाम से भी जानते हैं।

  • सबसे पहले तो रोजाना टॉयलेट को अच्छे से फ्लश करें।
  • उसके बाद उसको थोड़ी देर सूखने के लिए रुकें
  • जैसे ही सीट पर नमी कम हो जाये तुरंत ही उसमें एसिडिक मटेरियल यानी सफ़ेद सिरका का प्रयोग करें
  • फिर 2 से तीन मिनट के अंतराल के बाद बेकिंग सोडा डालें और फिर ब्रश से धीरे धीरे रगड़ने के बाद कुछ देर समय दें याद रखें 240 मिली यूनिट सिरका का ही प्रयोग करें
  • आपको बतादें जब भी सोडा और सिरका का प्रयोग एक साथ होता है वैसे ही कार्बन डाइऑक्साइड का उत्सर्जन होता है जिससे सारे बैक्टीरिया मर जातें हैंकुछ सावधानियां जिनका रखें ख्यालदोनों केमिकल्स की मात्रा लगभग बराबर अनुपात में रखें साथ ही स्क्रब ज़रूर करें साथ ही ये चमकती सीट से भी ज्यादा ज़रूरी है सफाई लोग अमूमन मान लेते हैं की केवल केमिकल्स का इस्तेमाल किया और फ्लश कर दिया इतने ही काफी है लेकिन डिसइंफेक्ट नामक प्रक्रिया बिलकुल भी न भूलें

क्या होता है डिसइंफेक्ट : डिसइंफेक्ट का सीधा सा अर्थ होता है सफाई के बाद की सफाई आपने एक कहावत तो सुनी ही होगी सोने पर सुहागा तो इसी तरह सारा केमिकल फ्लश हो जाने के बाद थोड़ा गरम पानी लें उसमे नीबूं की कुछ बूंदे डालें साथ ही सीट सूख जाने के बाद अंग्रेजी में कहें तो ड्राई सीट पर इस कपड़ें को हैंड ग्लव्स पहनकर सफाई करें

ये थे कुछ तरीके जिनसे आप चमकदार के साथ साथ अपनी टॉयलेट सीट को गन्दगी से मुक्त कर सकतें हैं क्यों हम सभी जानते हैं एक बीमार इंसान कई लोगों को बीमार कर सकता है।