महुआ मोइत्रा से लेकर मिमी चक्रवर्ती तक, तृणमूल की इन छह महिला नेताओं ने लिया है, सदा अविवाहित रहने की फैसला

डेस्क : भारत में हर एक को अपने हिसाब से जीने का अधिकार है। ऐसे में अब जमाना बदल रहा है लोग अपने तरीके से अपनी जिंदगी चलाना चाह रहे हैं बता दें कि कई लोग इस वक्त सिंगल रह रहे हैं वह सिंगल रहने में सहज महसूस करते हैं। ऐसे में भारत की पॉलिटिक्स में ज्यादातर नेता सिंगल है यहां तक कि भारत के प्रधानमंत्री भी इस वक्त सिंगल है लेकिन आज हम भारत के उन महिलाओं के बारे में बात करने वाले हैं, जिन्होंने शादी नहीं की है।

बता दें कि इसमें सबसे पहले नाम आता है बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का। ममता बनर्जी को लोग दीदी के नाम से भी बुलाते हैं। ऐसे में ममता बनर्जी ने शादी नहीं की और उन्होंने प्रण लिया है कि वह आजीवन लोगों की सेवा करेंगे जिसके चलते उन्होंने शादी शुदा जीवन नहीं अपनाया है।

महुआ मोइत्रा : महुआ मोइत्रा कोलकाता की रहने वाली है। वह एक बंगाल के परिवार में जन्म ले चुकी है। उनका जन्म 5 मई 1975 को हुआ था और मात्र 15 साल की उम्र में वह विदेश चली गई थी। विदेश में उन्होंने जमकर पढ़ाई की और एक इन्वेस्टमेंट बैंकर बनी लेकिन कुछ साल नौकरी करने के बाद वह भारत वापस आ गई और उन्होंने भारत में तृणमूल कांग्रेस पार्टी को ज्वाइन कर लिया। महुआ मोइत्रा को लेकर बंगाली टीवी चैनल अक्सर ही बातचीत किया करते हैं। ऐसे में वे कई बार विवादों के घेरे में आ चुकी है महुआ मोइत्रा पर बाबुल सुप्रियो ने टिप्पणी करते हुए कहा था कि महुआ महुआ पी कर बेहोश हो गई है।

सयानी घोष : सयानी घोष भी इस वक्त कुंवारी है बता दें कि यह ममता दीदी की पार्टी से ही आते हैं सयानी घोष ने इस बार का बंगाल चुनाव लड़ा था। ऐसे में वह बीजेपी उम्मीदवार से मात्र 600 वोट से हार गई थी। सयानी घोष का जन्म 27 जनवरी 1993 को हुआ था वह बहुत अच्छा गाना गाती है और एक अच्छी अदाकारा भी है। सयानी घोष वेब सीरीज में भी नजर आ चुकी है।

मिमी चक्रबर्ती : मिमी चक्रवर्ती इस वक्त 32 साल की है और उन्होंने शादी नहीं की है बता दें कि जिस जगह से वह लड़ी हैं उस जगह से वह सांसद बनी हैं।उन्होंने ममता दीदी की पार्टी से लोकसभा चुनाव लड़ा है। बतादें की वैक्सीन लगाने के बाद उनकी तबीयत खराब हो गई थी ऐसे में उन्होंने फर्जी टीकाकरण का पर्दाफाश किया था। फर्जी वैक्सीन लगाने के चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती होना पड़ा था।

दीपक अधिकार : दीपक अधिकारी की उम्र 38 वर्ष है वह निर्माता, गायक भी है और अभिनेता है। साथ ही साथ वह बंगाल की पॉलिटिक्स में है। कुछ वक्त पहले उन्होंने राजनीति में कदम रखा था उनके नाम पर एक प्रोडक्शन हाउस भी चल रहा है साथ ही साथ में वह कई प्राइवेट वेंचर भी करते हैं फिलहाल वह सिंगल है।

असित कुमार : अजीत कुमार की उम्र 66 साल है और उनकी शादी नहीं हुई है बता दे कि तृणमूल कांग्रेस के असित कुमार साल 2019 से पश्चिम बंगाल के बोलपुर से लड़ चुके हैं। वह राजनीति को लेकर काफी स्पष्ट दृष्टिकोण रखते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.