बेगूसराय से जुड़ सकते हैं रूपेश सिंह हत्याकांड के तार , पार्किंग ठेका विवाद या सफेदपोश को बचाने में जुटी सरकार !

बिहार के बहुचर्चित रूपेश सिंह हत्याकांड में बिहार पुलिस ने बहुत बड़ा खुलासा किया है। बिहार के डीजीपी एसके सिंघल ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि रूपेश सिंह की हत्या शायद एयरपोर्ट के पार्किंग ठेके के विवाद में कर दी गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सुपारी किलर के तार बेगूसराय से भी जुड़ा हो सकता है। वहीं दूसरी ओर बिहार डीजीपी के द्वारा पार्किंग ठेके के विवाद को हत्या की वजह बताए जाने के बाद इस मामले में राजनीति भी चालू हो गई है।

राज्य सरकार पे लग रहा है लिपापोती का आरोप- बिहार के सभी विपक्षी दल बिहार सरकार पर मामले की लीपापोती करने का आरोप लगा रहे हैं। बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट करते हुए कहा है कि”बिहार पुलिस बकरा खोज रही है? राज्य के गृहमंत्री ने सत्ता शीर्ष पर बैठे लोगों को बचाने के बहाने खोजने की निविदाएँ आमंत्रित की है।” इस मामले में जाप अध्यक्ष पप्पू यादव ने भी ट्वीट करते हुए राज्य सरकार पे सफेदपोशो को बचाने का आरोप लगाया है। पप्पू यादव ने ट्वीट करते हुए कहा कि”असली कातिलों को बचाने का खेल शुरू ,पार्किंग विवाद के नाम पर ,रूपेश हत्यकांड की लीपापोती। DGP साहब जमीर न बेचिए ,सबकुछ मिल जाएगा सुकून नहीं।आप भी औलाद वाले हैं”

गौरतलब है कि 12 जनवरी को इंडिगो के एयरपोर्ट मैनेजर रूपेश सिंह की कुछ बदमाशों ने गोली मार के हत्या कर दी थी। कई राजनीतिक दलों में पहुँच रखने वाले रूपेश सिंह की हत्या के बाद बिहार को राजनीति में भूचाल आ गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.