बेटी की भविष्य चिंता खत्म! उच्च शिक्षा के लिए सरकार देगी 1 लाख रुपये, जानिए – योजना के बारे में..

डेस्क: देश के कई इलाकों में अभी भी बेटियों को पराया धन माना जाता है, 18 से 20 साल होते हैं उसकी शादी कर उसे ससुराल भेज दिया जाता है। लेकिन जमाना बदल चुका है। सरकार बेटी की सुरक्षा के लिए कई तरह की योजनाएं चला रही है।

जिसमें आप अपनी बेटी की चिंता छोड़ ही दें तो अच्छा रहेगा। क्योंकि सारा खर्चा अब सरकार उठाएगी, सिर्फ आप को पालने की जरूरत है। ऐसी ही एक बेहद खास योजना है जिसका नाम है “लाडली योजना” इस योजना के तहत बच्चियों और उनके माता-पिता को आर्थिक मदद दी जाती है, इसमें सरकार बच्चियों को 12वीं तक की पढ़ाई के लिए पूरा खर्च देती है, इसके साथ ही बच्ची के जन्म पर माता-पिता को 11,000 रुपये की आर्थिक सहायता दी जाती है।

बता दे की इस योजना का लाभ सिर्फ वही लोग ले सकते है, जिनकी बिटिया का जन्म दिल्ली के कोई अस्पताल में हुआ है, दिल्ली के अस्पताल में जन्मी बच्ची को ₹11,000 की आर्थिक मदद मिलती है, बता दें कि यह राशि बच्ची के नाम से खोले गए अकाउंट में ट्रांसफर की जाती है, इस राशि को बच्ची 18 साल के बाद खुद निकाल सकती है, परिवार का कोई अन्य व्यक्ति इस पैसे को नहीं निकाल सकता है। इस योजना की मदद से बच्चियों की पढ़ाई के दौरान सरकार द्वारा आर्थिक सहायता दी जाती है, इससे माता पिता को बच्ची की पढ़ाई की टेंशन दूर हो जाती है।

जानिए कब-कब रुपैया मिलती है

  • कक्षा 1 एडमिशन -5000 रुपये
  • कक्षा 6  एडमिशन- 5000 रुपये
  • कक्षा 9  एडमिशन- 5000 रुपये
  • कक्षा 10  एडमिशन- 50,00 रुपये
  • कक्षा 12 एडमिशन- 5000 रुपये 

ध्यान रहे! सभी बच्चियों को इस योजना के तहत 1 लाख की सहायता राशि नहीं दी जाती है, जिनका जन्म के समय ही आवेदन किया गया है और कक्षा 1,6,9 व 12 या फिर 10वीं पास के बाद हर बार नवीनीकरण कराया गया है उन्हें 1 लाख की मदद मिलती है, वहीं बाकी बच्चियों के लिए पैसों पर ब्याज मिलता है। योजना का लाभ उठाने के लिए बच्ची पास दिल्ली का निवास प्रमाण पत्र हो (कम से कम 3 साल का), माता पिता का आय प्रमाण पत्र , बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र, माता पिता का आधार कार्ड और बच्ची का जाति प्रमाण पत्र होना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.