बिहार को यूपी से जोड़ने के लिए होगा शानदार बाइपास सड़क का निर्माण, जानें – क्या होगा रूट..

डेस्क : राष्ट्रीय उच्च पथ 727 के पनियहवा व छितौनी रेल सह सड़क पुल के रास्ते बिहार को उत्तर प्रदेश से जोड़ने में आ रही बाधाओं को दूर करने हेतु कवायद तेज कर दी गयी है. वाल्मीकि व्याघ्र परियोजना के क्षेत्र से होकर गुजरनेवाली सड़क के बदले में अब नया बाईपास सड़क का निर्माण किया जायेगा. इसके लिए DM कुंदन कुमार की अध्यक्षता में एक बैठक सम्पन्न हुई. इसमें वाल्मीकिनगर के विधायक धीरेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ रिंकू सिंह, विधान पार्षद के भीष्म सहनी, सांसद, वाल्मीकिनगर के प्रतिनिधि सहित कार्यपालक इंजीनियर, नेशनल हाईवे डिविजन, मोतिहारी आदि गणमान्य उपस्थित रहे.

एलाइनमेंट पर की गई विस्तृत विचार-विमर्श : बैठक में दिल्ली से आये हुए कंसलटेंट द्वारा बाइपास सड़क निर्माण के लिए विभिन्न एलाइनमेंट का पावर प्रजेंटेशन भी किया गया. उन्होंने यह बताया कि बाइपास सड़क निर्माण के लिए 3 एलाइनमेंट तैयार किया गया है. इसमें SSB कैम्प, बगहा से उत्तर प्रदेश बॉर्डर, डुमवलिया से बेलबनिया (UP), रतनमाला से नेंबुआ (UP) शामिल हैं. इस बैठक में विभिन्न एलाइनमेंट पर विस्तृत विचार-विमर्श की गयी हैं. साथ ही साथ उपस्थित जनप्रतिनिधियों द्वारा बाइपास सड़क निर्माण से संबंधित अपने-अपने विचारों को भी रखा गया.

पश्चिम चम्पारण के लिए साबित होगा यह एक बड़ा प्रोजेक्ट : जिलाधिकारी कुंदन कुमार ने कहा कि पश्चिम चम्पारण जिले के लिए यह एक बड़ा प्रोजेक्ट साबित होगा. इस बाइपास के निर्माण हो जाने से आवागमन में लोगों को बहुत ही सहुलियत होगी तथा विकास का मार्ग और भी प्रशस्त होगा. उन्होंने कहा कि इस प्रोजेक्ट को अविलंब फाइनलाइज भी करना है. ताकि तेजी के साथ कार्य करते हुए इसे पूर्ण कराया जा सके. सड़क का निर्माण NH करायेगा. विदित हो कि वन विभाग की ओर से वन क्षेत्र में सड़क निर्माण पर रोक लगाये जाने के कारण ही मदनपुर से लेकर पूरे छितौनी रेलपुल तक पक्की सड़क का निर्माण कार्य नहीं कराया जा पा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *