बिहार के शिक्षकों को हफ्ते में 2 दिन नहीं मिलेगी मनमानी छुट्टी – लेटर हुआ जारी..

डेस्क : सरकारी स्कूल के अध्यापकों के लिए पहले से ही अवकाश निर्धारित कर दिया जाता है। यानी वे जब चाहे इन छुट्टियों का प्रयोग अपनी सुविधा के हिसाब से कर सकते हैं, लेकिन अब हफ्ते के बुधवार और गुरुवार के दिन वे छुट्टी नहीं ले सकेंगे। बिहार के सरकारी स्कूलों की व्यवस्था सुधारने के लिए शिक्षा विभाग लगभग हर संभव कोशिश कर रही है। अब जांच में ये शिकायतें भी सामने आई है कि हफ्ते के हर बुधवार और गुरुवार को शिक्षकों की अनुपस्थिति ज्यादा रहती है। इसको देखते हुए विभाग ने यह बड़ा फैसला लिया है।

जहानाबाद जिला के शिक्षा पदाधिकारी ने शिक्षकों के छुटियो को लेकर एक पत्र जारी किया है, जिसमें कहा गया है ‘प्रत्येक सप्ताह के बुधवार और गुरुवार के दिन अवस्थित विद्यालयों का जिलास्तरीय पदाधिकारी द्वारा निरीक्षण किया जाना नपारित है। उस क्रम में निरीक्षण के दौरान पाया जा रहा है कि अधिकांश विद्यालयों में अध्यापक निरीक्षण तिथि को अक्सर अनुपस्थित रहते है, जिससे विद्यालय का अपेक्षित प्रगति प्रतिवेदन भी प्राप्त नहीं हो पाता है, जो कि एक खेद का विषय है। वर्णित स्थिति में आप सभी को निदेश दिया जाता है कि अपने विद्यालयों में उपरोक्त निरीक्षण तिथि को किसी भी शिक्षक/शिक्षिका का सामान्य तौर पर भी आकस्मिक अवकास या विशेषावकाश भी स्वीकृति नहीं किया जाए।

वहीं, इस पत्र में इस बात की भी चर्चा की गई है कि अगर किसी टीचर को बुधवार या गुरुवार को कोई इमरजेंसी आ जाती है तो उन्हें पहले से ही परमिशन लेनी होगी, उसके बाद ही उन्हें अवकाश मिल पाएगा। इतना ही नहीं, स्कूल में बच्चों की भी उपस्थिति को लेकर भी निर्देश दिया गया है। लेटर में यह कहा गया है कि विद्यालय संचालन अवधि (प्रातः 9:00-04:00 बजे तक)कोई भी छात्र/छात्रा विद्यालय से अनुपस्थित होकर किसी भी कोचिंग संस्थान में भी नहीं जाए। निरीक्षण के दौरान इस प्रकार की शिकायत पाये जाने पर अनुशासनिक कार्रवाई भी की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *