मैं गरीब हूँ : झारखण्ड का लड़का कैसे बना इंटरनेट सेंसेशन, यूट्यूब पे 2.5 लाख से ऊपर फोल्लोवर्स, लोगों ने कॉपी किया स्टाइल

Garib Boy

डेस्क : अगर इंसान अपने आपको समय के साथ नहीं बदलता तो उसकी वही स्थिति हो जाती है जो शुरू से थी। कई लोग इस वक्त सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं, सोशल मीडिया की वजह से कई लोगों को फेम-नेम कमाने में मदद मिली है। बता दें की इस वक्त एक बहुत बड़ी जनता जिसकी उम्र 15 से 25 वर्ष के बीच है वह इंटरनेट पर है।

इंटरनेट और सोशल मीडिया पर आने के लिए आपको किसी ऐसी चीज के काबिल नहीं होना पड़ता जिससे आपको मेहनत लगे बस थोड़ा सा दिमाग, हुनर और टेक्निकल समझ। आज की नई पीढ़ी में यह कूट कूट के भरी है।बता दें इन तीनो के दम पर ही एक लड़का जो काफी गरीब परिवार से था। उसका नाम सावन महाली है।वह परसुडीह झारखंड का रहने वाला है। उसने टिकटॉक पर एक वीडियो बना के उपलोड किया था। वह लोगो तक पहुंचा और वह लड़का गरीब बॉय के नाम से प्रचिलित हो गया।

वीडियो में उसने रोते हुए अपनी पूरी जिंदगी का जिक्र कर दिया और लोगो को एक इमोशनल टच दे डाला। उसने अपने छोटे से वीडियो में समझा दिया की एक आम गरीब बच्चे की जिंदगी कैसी होती है। लेकिन, जब से चाइना द्वारा बनाई गई एंड्राइड ऍप्लिकेशन्स भारत में बंद कर दी गई तब से गरीब बॉय ने सोच लिया की अब वह रुकेगा नहीं और अपने इस कार्य को निरंतर करता रहेगा। उसने अपने वीडियो और अपना लाइफस्टाइल यूट्यूब पर दिखाना शुरू कर दिया और इस वक्त गरीब बॉय के 2 लाख 79 हजार सब्सक्राइबर्स हैं और 150 वीडियोज़ है।

अब धीरे धीरे उनको प्रमोशन के ऑफर्स भी आने लगें हैं लेकिन यह सब इतना आसान नहीं था उनका कहना है की उन्होंने टिकटोक पर करीब 3000 से भी ज्यादा वीडियो अपलोड कर दिए थे उसके बाद भी उनको कमैंट्स में गालियां सुनने को मिलती थी और गरीबी का मंजर कुछ इस तरह था की उनकी माँ बताती हैं की कभी कभी उनको चावल में पानी मिलाकर खाना होता था। उनका मानना है की अभी उनकी यूट्यूब पर एक छोटी फॅमिली है लेकिन बड़े यूटूबर आशीष चंचलानी ने उनके ऊपर मीम्स बना के उनको और फेमस कर दिया। सावन का मानना है की उनकी कामयाबी के पीछे उनके माँ बाप का हाथ है और उन्होंने जो एक्टिंग की है। वह दिल से और सच्चाई के साथ की है। अपनी कड़ी मेहनत वह जारी रखना चाहते हैं और दुनिया को साबित करना चाहते हैं की एक गरीब लड़के में भी ताकत होती है कुछ कर दिखाने की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *