ठेकेदारी करके नहीं बनी बात तो बन गया ढोंगी बाबा, अब लग गई है लोगों की भीड़ और मिलता है उनको 29 मिनट में समाधान

Fake Baba rising in Bihar

डेस्क : भारत की मिट्टी पर अनेकों समय से बाबाओं का राज रहा है। लेकिन, वह कहते हैं ना कि असल की नकल होते देर नहीं लगती। इसलिए जहाँ असली बाबा हुआ करते थे वहां नकली बाबाओं का भी जोर शोर से प्रचलन था और लोग नकली बाबाओं से बच नहीं पाते थे। ऐसे में नकली बाबाओं ने अनेकों धंधे शुरू कर दिए थे, जिनके चलते भले लोगों को लूटने लगे थे। कई मामलों में तो अभी भी भारत की जेलों में अनेकों बाबा पड़े सड़ रहें हैं।

दरअसल, गलती किसकी है यह कहना मुश्किल है। क्योंकि एक तरफ बाबा गलत रूप दिखाकर जनता को ठगते हैं वही जनता भी बेवकूफ बन के बाबाओं के चक्कर में पड़ जाती है। बता दें कि बिहार के भभुआ के चैनपुर सिकंदरपुर गांव में एक ढोंगी बाबा तेजी से प्रचलित हो रहा है। बाबा का दावा है कि वह 29 मिनट के अंदर कैंसर के रोगी को छूकर ठीक कर देता है। अगर बात करें बाबा के पहनावे की तो वह लाल रंग की साड़ी पहनता है माला अपनी गर्दन पर डाले रहता है और माथे से लेकर सिर तक सिंदूर लगाकर रखता है।

लेकिन, जब जांच पड़ताल की गई तो पता चला कि बाबा का नाम मुकेश चौहान है जो पहले ठेकेदारी करता था। जब उसका ठेकेदारी का काम नहीं चला तो उसने सोचा कि लोगों को बाबा बनकर लूटते हैं। ऐसे में वह अपने आप को शीतला माता का रूप बताता है और वह बखूबी जानता था कि अगर वह अपने घर में ही शीतला माता का मंदिर बनवा लेगा तो लोगों की आस्था और बढ़ जाएगी, और वह लोगों के विश्वास के साथ खेलने में कामयाब हो जाएगा। ऐसे में अब इस तरह का काम हो रहा है। जब वह ठेकेदारी का काम करता था तो चेन्नई और हैदराबाद में रहता था।

लेकिन जब से वह बाबा बन गया है तो वह रोगमुक्त मरीज, बच्चे की चाह, दुखों से छुटकारा दिलाना जैसी अन्य घरेलू समस्याओं का निदान मात्र छूकर कर देता है। वह अपने आपको शीतला माता का कलयुग अवतार बता रहा है। साथ ही साथ वह ऐसी ऐसी विधियों में पारंगत है जिसका किसी ने नाम भी नहीं सुना है। लोगों से पूछा गया कि वह बाबा के दरबार पर किसलिए आए हैं तो श्रद्धालुओं में से एक औरत जिसका नाम जानकी देवी है उसने कहा कि शादी के 4 साल बाद भी उसको संतान नहीं हुई है इसलिए वह परेशान है और यहां आई है। एक और महिला से बात की गई जिसका नाम अवतारी देवी है वह कहती है कि मैं उत्तर प्रदेश के नौबतपुर से यहां आई हूँ और उसके जोड़ों में बेहद ज्यादा दर्द रहता है। अब बाबा के पास पूरे दिन भीड़ लगी रहती है और वह लोगों का इलाज मात्र 30 मिनट के अंदर ही कर देता है बाबा का कहना है कि उन्होंने 17 साल तक तपस्या की है और उसके ऊपर माता का आशीर्वाद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

UPSC टॉपर शुभम की कहानी, 6 साल की उम्र में घर छोड़ा, 12वीं में देखा था IAS बनने का सपना मिलिए जागृति से,जानिए कैसे बनीं वो UPSC के महिला वर्ग में देशभर की टॉपर Divya Aggarwal ने जीता BigBossOTT-जानें ट्रॉफी के साथ कितना मिला कैश ? Jio अब बजट रेंज में लॉन्च करेगा लैपटॉप, ये होंगे कीमत और Features Airtel vs Vi vs Jio : जानें 600 रुपये से कम वाला किसका रिचार्ज प्‍लान सबसे बेस्‍ट