ओलंपिक्स में क्यों बांटे जाते है Condoms- इस महिला खिलाड़ी ने खोल दी पोल

डेस्क : इस वक्त जापान की राजधानी टोक्यो में 2020 के ओलंपिक हो रहे हैं। कोरोना के चलते यह ओलिम्पिक पिछले साल नहीं हो पाए थे। ओलंपिक्स के बीच कई खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया है, भारत में सबसे ज्यादा खिलाड़ी इस बार ओलंपिक खेलने गए हैं। ऐसे में एक खबर निकल कर आ रही है जो सबको चौंका देने वाली है बता दे कि सभी खिलाड़ियों के लिए वहां की सरकार उनको कंडोम देती है।

यह बात हम नहीं बल्कि ओलंपिक में हिस्सा लेने वाली एक खिलाड़ी ने कहा है। खिलाड़ी की उम्र 52 वर्ष है और वह एक महिला है, महिला एथलीट का नाम सुजैन तिटक्ते है। वह जर्मनी को ओलंपिक्स में रिप्रेजेंट कर चुकी हैं। महिला का कहना है कि बहुत सारे लोग ओलंपिक्स के दौरान सरकार द्वारा दिए गए एक होटल या फिर स्पोर्ट्स विला में रुकते हैं।

वहां पर सभी खिलाड़ी आराम करने के लिए जाते हैं और खेलने के बाद खाना-पीना करते हैं, ऐसे में जब उनका खेल पूरा हो जाता है तो अपने आप को रिचार्ज करने के लिए लोग एक दूसरे के साथ संबंध बनाते हैं। 52 वर्षीय खिलाड़ी का कहना है कि ऐसा इसलिए किया जाता है ताकि वह खेल में अच्छा प्रदर्शन कर सके। दिमाग में किसी भी तरह का दबाव ना रहे, इसलिए सरकार अपनी तरफ से जो हो सके वो करती है। 52 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा है कि सरकार हजार से लेकर लाखों की तादाद में कंडोम खिलाड़ियों को बांटती है।

सुजैन ने बताया की रात में खिलाड़ियों के कमरे से आवाज़े आती थी। हर खिलाड़ी के कमरे में एक पार्टनर तो जरूर होता था। खिलाड़ी ने बताया की रात में सोना बहुत मुश्किल हो जाता था क्यूंकि आवाज़ें बहुत भयावह होती थी। सुजैन ने बताया की खेल ख़त्म होते ही सभी खिलाड़ी रात में रोमांस करने लग जाते थे। ऐसा करके वह अगला दिन अच्छे से खेलते थे और उनका गेम इम्प्रूव होता था। सरकार की प्रतिक्रया इस बात पर यह रहती है की किसी भी तरह से उनके देश में HIV ना फैले इसलिए वह खिलाड़ियों के लिए कंडोम देती है। कई लोगों ने इसका विरोध किया है और कहा की जो ओलंपिक्स में खिलाड़ी आएंगे उनको कंडोम नहीं बल्कि सोशल डिस्टन्सिंग अनिवार्य रूप से करवाई जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.