कलियुगी पुत्र ने 95 वर्षीय पिता को छह वर्षों से कमरे में कर रखा था बंद, बाहर निकाला तो बोला रोशनी नहीं देखी

jogbani bihar news

डेस्क : मां बाप अपने बच्चों से बेहद ही ज्यादा उम्मीद रखते हैं। लेकिन, कभी-कभी उनकी उम्मीद पूरी नहीं हो पाती है और किसी कारणवश उनको हताशा झेलनी पड़ती है। लेकिन, वही बच्चे अगर कामयाब हो जाते हैं तो भी वह मां-बाप के लिए परेशानी बन जाते हैं। यह सुनकर आपको जरूर अजीब लग रहा होगा लेकिन आज हम आपको एक ऐसे ही घटना के बारे में बताने वाले हैं जो बिहार के जोगबनी बाजार की है। बीते सोमवार को जोगबनी बाजार में सनसनी फैल गई जब एक वृद्ध आदमी को 6 वर्ष तक एक कमरे में कैद करके रखा गया। ज्यादा जानकारी जुटाने पर पता लगा कि 6 वर्ष से वृद्ध आदमी एक ही कमरे में अपने तीन कलयुगी बेटे द्वारा रखा गया है।

दरअसल, जोगबनी के वार्ड संख्या 11 बस स्टैंड के पास पुराने जर्जर मकान में तीन कलयुगी पुत्रों ने अपने पिता को बंद किया हुआ था। वृद्ध आदमी की उम्र 95 वर्ष है और उसका नाम राधाकृष्ण है। राधाकृष्णन शाह के 3 पुत्र हैं पहले का नाम उपेंद्र शाह है दूसरे का राजेंद्र शाह और तीसरे का हरे राम शाह। तीनों ही काफी सुखी पूर्वक अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं और तीनों व्यापारी हैं लेकिन उनके पिता की दुर्दशा खराब है। बता दें कि तीनों में से बीच वाला पुत्र पिता के लिए दो वक्त का खाना लेकर जाता है और पुनः दरवाजा बंद करके अपने काम को लौट जाता है।

लोगों का कहना है कि वृद्ध आदमी ने बीते 6 सालों से धुप नहीं देखी है। यह जानकारी किसी तरह छुप- छुपाते हुए मीडिया प्रशासन को लग गई। इसके बाद थाना अध्यक्ष आफताब अहमद, मौके पर पहुंचे और पूरी घटना का जायजा लेते हुए ज्यादा से ज्यादा जानकारी बटोरने की कोशिश की। इसके बाद जब मामला आग की तरह फैला तो वार्ड संख्या 11 के पार्षद राजू राय भी मौके पर पहुंचे और सब ने मिलकर वृद्ध आदमी को बाहर निकाला। वृद्ध आदमी की उम्र 95 वर्ष है जिसको देखकर सब अचंभित हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *