Kanhaiya Kumar : ‘बिहार की धरती से हूं, छठी का दूध याद दिला दूंगा’ – पीएम मोदी और अमित शाह को रखते हैं तीर की नोक पर

26
kanhaiya kumar

डेस्क : इस वक्त बिहार की सियासत गरमाई नजर आ रही है, बता दें कि कन्हैया कुमार से जुड़ी एक बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है खबर को जाने से पहले बता दें कि कन्हैया कुमार सिर्फ जेएनयू के विवाद से ही नहीं जुड़े हैं, बल्कि वह भारतीय सेना पर भी उल्टे सीधे कमेंट कर चुके हैं। वह अपने विवादित बोल के लिए जाने जाते हैं, इस वक्त कन्हैया कुमार का नाम कांग्रेस के साथ जुड़ चुका है। बता दे की यह घटना 2015 की है, जब कन्हैया कुमार जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्र संघ के उम्मीदवार बन कर खड़े थे। तब उन्होंने भारत सरकार के खिलाफ नारेबाजी की थी।

इसके बाद 9 फरवरी 2016 में वह मोहम्मद अफजल गुरु की फांसी को लेकर चर्चा करते नजर आए थे। कन्हैया कुमार का कहना है कि कश्मीर में मौजूद भारतीय सेना महिलाओं पर अत्याचार और जुल्म के साथ बलात्कार भी करती है। इतना ही नहीं वह लोगों के साथ कुछ इस प्रकार का बर्ताव करते हैं जो बताने लायक नहीं है। यह सारी चीजें कन्हैया कुमार ने भारत की राजधानी दिल्ली में कही थी। शुरू से ही कन्हैया कुमार, अमित शाह और नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते नजर आए हैं। कन्हैया कुमार का कहना था कि मैं हर जगह “भारत माता की जय” नाम रख दूंगा /मैं अपनी पत्नी का नाम भी “भारत माता की जय” रख दूंगा अपने बच्चों का नाम भी “भारत माता की जय” रख दूंगा।

इसके बाद 4 फरवरी 2020 को कन्हैया कुमार ने टि्वटर हैंडल के जरिए एक विवादित ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने कहा था कि RSS धर्म का धंधा करने वाले लोगों का है। यहां पर पता ही नहीं चलता कि कौन हिंदू है और कौन संघी है। कन्हैया कुमार शुरू से कह रहे हैं कि जब धर्म के आधार पर राजनीति होगी तो मैं उनका साथ बिल्कुल भी नहीं दूंगा। पूर्व छात्र नेता कन्हैया कुमार आज कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए है। उनको पार्टी नेता राहुल गांधी की उपस्थिति में नई दिल्ली में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी मुख्यालय में शामिल किया गया। कार्यक्रम में गुजरात के दलित नेता जिग्नेश मेवाणी ने भी समर्थन दिया, हालांकि तकनीकी कारणों से वह पार्टी में शामिल नहीं हो सके।