नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने श्रेयसी सिंह को याद दिलाए अपने बीते स्कूली दिन कहा ” आप तो हमारी बैच मेट हैं “

Tejaswi Yadav Shreyasi Singh

Tejaswi Yadav Shreyasi Singh

डेस्क : इस वक्त बिहार में बजट सत्र चल रहा है और इस बजट सत्र में वाद-विवाद भी होता नजर आ रहा है। लगातार विपक्ष हमलावर हो रहा है और बीते मंगलवार को राज्यपाल का अभिभाषण हुआ। उन्होंने उन सारे मुद्दों की चर्चा की जो बिहार सरकार आने वाले समय में करने वाली है, लेकिन इसी बीच भारतीय जनता पार्टी की ओर से फेमस निशानेबाज श्रेयसी सिंह ने खड़े होकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव द्वारा दिए गए बयान पर बचाव किया।

बता दें की श्रेयसी सिंह अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज है और अब वह राजनीति में कदम रख चुकी हैं। श्रेयसी सिंह ने जब बात का बचाव किया तो तेजस्वी यादव ने कहा कि यह बात आपकी और हमारी नहीं है लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि आप यहां पर जीत कर आई है। इससे हमें बड़ी खुशी हुई है लेकिन आप हमारी बैचमेट हैं और हम साथ में ही पढ़ें हैं। हम लोगों को उनका भी सोचना होगा जिसको खेलकूद में वह सारी सुविधाएं नहीं मिलती जो सरकार की ओर से मिलनी चाहिए। बता दें कि बिहार में बजट सत्र चल रहा है और इस बजट सत्र में विधानसभा में मौजूद अन्य नेताओं के बीच तेजस्वी यादव ने अपनी बात रखी। उन्होंने बताया कि राजनीति में कुछ भी व्यक्तिगत नहीं होता है और सार्थक बहस की सब को आजादी है, तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश सरकार द्वारा भ्रष्टाचार और रोजगार साथ ही अपराध के लिए जितने भी अभियान चलाए गए सब विफल रहे हैं।

सत्र में उन्होंने खेलकूद पर चर्चा की जब उन्होंने खेलकूद के मुद्दे पर चर्चा की तो तेजस्वी यादव ने सरकार की लापरवाही का जिक्र किया। यह बात श्रेयसी सिंह को ठीक नहीं लगी और उन्होंने खड़े होकर इसका बचाव किया। उन्होंने श्रेयसी सिंह की तरफ इशारा करते हुए कहा कि जरा पूछिए क्या बिहार के बच्चों को ओलंपिक में गोल्ड मेडल लाने का मन नहीं होता। श्रेयसी सिंह ने तुरंत उन्हें टोका लेकिन स्पीकर ने वापस से उन्हें टोक दिया और बोले की माननीय सदस्य यदि आप कुछ कहना चाहते हैं तो आप अपनी जगह पर खड़े होकर कह सकते हैं। बैठ के बोलने की इजाजत नहीं है।

इसके बाद फिर से श्रेयसी सिंह खड़ी हुई कि कल बजट में राजगीर और यूनिवर्सिटी की घोषणा की गई है और अगर बात करें अंतरराष्ट्रीय स्तर की तो शूटिंग रेंज के लिए माननीय मंत्री आलोक रंजन से मैं बात कर चुकी हूं और मुझे उम्मीद है कि सरकार बिहार में खेल प्रतिभाओं को अनेकों प्रकार की सुविधाएं देने जा रही है। तेजस्वी यादव ने बताया कि बीते 15 वर्षों से बिहार में खेलने वाली नई प्रतिभाओं की हालत बिल्कुल बेकार है स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के नाम पर कोई योजना नहीं बनी और बनी भी हैं तो उसको समय पर लागू नहीं किया गया। बता दें कि राजद की तरफ से स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की योजना शुरू की गई थी लेकिन कोई सार्थक फल नहीं निकला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *