बिहार का ये युवक LED Bulb बेच हर महीने कमा रहा 1.25 लाख, 150 युवक को रोजगार दे पेश कर रहा मिसाल

18
LED Bulb bihar entrepreneur

डेस्क : आज हम आपको ऐसे व्यक्ति के बारे में बताने जा रहे है? जिन्होने नामुमकिन को मुमकिन कर दिया जिस Lockdown में लोग बिरोजगार हों गए उस Lockdown में आलोक ने कंपनी ही खोल ली। दो साल पहले कोविड महामारी जैसी कठिन परिस्थिति का सामना करते हुए अपने अनुभव के दम पर led बल्ब उद्योग की शुरुआत की।

bihar bulb entrepreneur

आज आलोक हर महिने 1.25 लाख प्रति माह कमा रहे हैं। बिहार के कटिहार के 30 वर्षीय इंजीनियर आलोक सिंह दर्जनों बेरोजगार युवाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत बन गए हैं। दरअसल, आलोक ने अपने जिले के बेरोजगार युवाओं की जिंदगी में एक ऐसी रोशनी दी है जिससे वह सभी ख़ुश है। उत्तर प्रदेश के मेरठ स्थित स्वामी विवेकानंद विश्वविद्यालय से वर्ष 2019 में पेट्रोलियम इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर लौटे।

led bulb

आलोक अपने सूरत, ग्वालियर और नोएडा से कच्चा माल मंगवाकर यह बल्ब तैयार करते हैं। आलोक ने बताया कि इसमें 0.5 वॉट से लेकर 50 वॉट तक का एलईडी बल्ब, एलईडी ट्यूब, इमरजेंसी लाइट, सोलर लाइट बाजार में उपलब्ध कराया जा रहा है। जब पूरी दुनिया COVID महामारी से गुजर रही थी। जिसके बाद आलोक सिंह ने बेरोजगार युवकों की टीम बनाकर शुरुआती दौर में ख़ुद से 4 लाख रुपये का निवेश कर एलईडी बल्ब बनाने का काम शुरू किया।

led builb 1

महामारी के कारण लाॅकडाउन में बेरोजगार युवकों की टीम बनाकर वेतन देकर रोजगार के काम कराए। कुछ समय पश्चात अपने अनुभव की मदद से आलोक ने केवल 2 वर्षों के अंतराल में अपने उद्योग को 18 लाख तक कर दिया।आलोक ने प्रधानमंत्री नव परिवर्तन योजना के तहत लाभ उठाकर ₹6 लाख का अनुदान भी प्राप्त किया जिससे उन्हे उनके फर्म में काफ़ी सहायता मिली। फिलहाल, 12 सेल्स, 10 युवक मैन्युफैक्चरिंग विभाग संभाल रहे हैं, एप्पल इंडस्ट्रीज में एक आदमी अकाउंटिंग का काम भी देखता है। वहीं प्रबंध विभाग को खुद आलोक ही संभाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह वर्तमान में 150 अन्य बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने का में प्रयास कर रहा हूं। आलोक ने कहा कि अगर सरकार इस उद्योग को आगे ओर बढ़ावा देती है, तो वह इस उद्योग में रोजगार के अपार अवसर प्रदान कर सकते हैं।