शराब माफियों ने निकाला नया तरीका, VIP नंबर की गाड़ियों से मंगाई जा रही दो लीटर के जार में शराब

डेस्क : बिहार में शराबबंदी कानून नियमित रूप से लागू है लेकिन इसका उल्लंघन करते हुए हर नागरिक नजर आता है कोई इसके व्यवसाय में लिप्त है तो कोई इसका सेवन करता पाया जाता है आपको बता दें कि महिलाओं से लेकर बच्चे और जवान सभी शराब के व्यवसाय में लगे हुए हैं हालांकि कुछ ऐसे भी शराब तस्कर पकड़े गए हैं जो लोगों को अलग तरीके से शराब बेचते दिख रहे हैं।

लोगों ने कम समय में शराब का धंधा कर मकान और खेत खरीद लिए हैं वहीं दूसरी ओर पुलिस भी अपनी शक्ति/बल के साथ हर जिले में कमर कस कर शराब तस्करों को पकड़ रही है। पुलिस छानबीन कर रही है कि तस्कर किस तरह से शराब बेचने के नए हथकंडे अपना रहे हैं वैसे ही तस्करी करने वाले गिरोह भी नए-नए तरीके निकाल रहे हैं, जिसमें वह शराब बेच सकें। हाल ही में मामला सामने आया है जहां पर शराब माफियाओं ने वीआईपी नंबर वाली गाड़ियों के जरिए शराब बिक्री शुरू कर दी है।

जो वीआईपी गाड़ियां पकड़ी गई है उनमें करीब 2 लीटर शराब लोगों तक जार के जरिये पहुंचाई जा रही है। लोगों तक शराब के जार पहुंचाने के लिए डिलीवरी बॉयज का इस्तेमाल किया जा रहा है। एक जार की कीमत 2 हजार से 3 हजार है लेकिन तस्कर 5 हजार की बेच रहे हैं। यह जानकारी केंद्रीय खुफिया विभाग ने पटना में मौजूद मुख्यालय को दी है। जिसमें स्थानीय स्तर की पुलिस इंस्पेक्टर भी शामिल है। इस सूचना को गोपनीय तरीके से अधीक्षक संजय राय को बताया गया है और इस काम पर गोपनीय तरीके से कार्यवाही की जाएगी। वीआईपी नंबर की गाड़ियों से शराब की खेप काफी छोटे स्तर पर हो रही है।

बिहार से सटे इलाके एवं राज्यों से शराब आ रही है अगर बात करें तो बीते दिनों में उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, झारखंड, नेपाल, दिल्ली से जमकर शराब की खेप बिहार में आई है। आंकड़ों के मुताबिक शराब बंदी के बाद से शराब का सेवन बिहार में धड़ल्ले से बढ़ गया है पहले लोगों को सरकारी ठेकों तक जाना होता था लेकिन अब उन्हें घर बैठे डिलीवरी बॉयज की सहायता से शराब मिल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.