बिहार में 1 मार्च से लॉन्च की जाएगी M-पासपोर्ट एप, वेरिफिकेशन के लिए नहीं आएगी पुलिस आपके घर

डेस्क : बिहार में पासपोर्ट की व्यवस्था को सही से चलाने के लिए नई एप्लीकेशन लॉन्च की गई है। इस एप्लीकेशन का नाम है एम पासपोर्ट एप्लीकेशन जिसके जरिए पूरे बिहार में पासपोर्ट वेरिफिकेशन का काम सरल और पारदर्शी बन जाएगा। यह पासपोर्ट सेवा 1 मार्च से शुरू की जाएगी और इस पासपोर्ट को चलाने हेतु, हर जिले में सभी दरोगा डीएसपी और एसएसपी को प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

ऐसे में इस प्रशिक्षण के जरिए सभी दरोगा डीएसपी एवं एसएसपी को सिखाया जा रहा है कि किस तरीके से वह इस एप्लीकेशन को इस्तेमाल कर सकेंगे। अब तक 1350 टेबलेट बांटे जा चुके हैं। टेबलेट सभी थानों में मौजूद रहेंगे। यह जानकारी क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी प्रवीण मोहन सहायक ने दी है। इस वक्त पासपोर्ट वेरिफिकेशन में 21 दिन लगते हैं लेकिन एप्लीकेशन लॉन्च हो जाने के बाद से पासपोर्ट वेरीफिकेशन के लिए 10 दिन ही लगेंगे और पासपोर्ट की अर्जी पुलिस मुख्यालय में एसपी द्वारा चेक की जाती है। वह जरूरत अब खत्म हो जाएगी। ऐसे में अब जल्द वेरिफिकेशन हो जाएगा और रिकॉर्ड रख लिया जाएगा।

पुलिस वाले जो पासपोर्ट वेरिफिकेशन के लिए घर पर आया करते थे वह नहीं आएंगे इससे आशंका थी कि भ्रष्टाचार बढ़ सकता है लेकिन अब भ्रष्टाचार भी खत्म होगा। इस पासपोर्ट एप्लीकेशन की बारीकियां समझने के लिए 23 सितंबर 2019 को डीजीपी द्वारा एम पासपोर्ट एप्लीकेशन को लाया गया था। ऐसे में इसका पायलट प्रोजेक्ट पटना के कोतवाली और पाटलिपुत्र थाने में किया गया था। इसकी सफलता के बाद से अब इसको हर जिले के थाने में टेबलेट की मदद से स्थापित किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.