मिल्खा सिंह का कोरोना के कारण निधन; पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘हमने एक महान खिलाड़ी खो दिया’

डेस्क : फ्लाइंग सिख के नाम से मशहूर मिल्खा सिंह ने शुक्रवार रात चंडीगढ़ में अंतिम सांस ली। उनकी उम्र 91 वर्ष थी। वह एक महीने पहले कोरोना से ग्रस्त हुए थे। उनकी पत्नी भी कोरोना से पीड़ित थी। शुरुआत में उनकी पत्नी का देहांत हुआ और मात्र एक हफ्ते के बाद मिल्खा सिंह ने दुनिया को अलविदा कह दिया।

बता दें की वह 1958 के राष्ट्रमंडल खेलों के चैंपियन रहे हैं। उन्होंने 1960 के रोम ओलंपियन में हिस्सा लिया था। उनका 20 मई को कोरोना वायरस के लिए परीक्षण किया गया था। प्रशिक्षण के बाद रिपोर्ट नेगेटिव आई थी। इसके बाद उनको मोहाली के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मिल्खा सिंह को नेहरू अस्पताल में भर्ती होने से पहले 30 मई को छुट्टी दे दी गई थी उस दौरान उनकी तबियत ठीक हो गई थी। जब वह घर आ गए थे तो ऑक्सीजन का स्तर कम होने लगा था। इसके बाद उनको पीजीआईएमईआर में 3 जून को भर्ती करवाया गया था। इस जानकारी की पुष्टि उनके बेटे जीव मिल्खा सिंह ने की है।

मिल्खा सिंह के देहांत के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर श्रद्धांजलि व्यक्त की और लिखा ” अभी कुछ दिन पहले ही मेरी श्री मिल्खा सिंह जी से बात हुई थी। मुझे नहीं पता था कि यह हमारी आखिरी बातचीत होगी। कई नए एथलीट उनकी जीवन यात्रा से ताकत हासिल करेंगे। उनके परिवार और दुनिया भर में कई प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदनाएं। “

उनके नाम चार एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक हैं जिसमें 1958 में 200 मीटर और 400 मीटर की रेस, और 1962 में 400 मीटर और 4×400 मीटर रिले रेस – मिल्खा सिंह का सबसे यादगार क्षण 1960 के रोम ओलंपिक में आया था, जहां वह 400 मीटर फाइनल में चौथे स्थान पर रहे थे। रोम में मिल्खा सिंह ने 45.6 सेकंड का राष्ट्रीय रिकॉर्ड स्थापित किया था जो 1998 में परमजीत सिंह ने तोड़ा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.